ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा मे ने अचानक बड़ी घोषणा की है. मंगलवार सुबह उन्होंने कहा कि वे देश में इसी साल आठ जून को आम चुनाव चाहती हैं. उनके मुताबिक वे इस प्रस्ताव को जल्द ही संसद में रखेंगी. ब्रिटेन में इससे पहले आम चुनाव साल 2015 में हुए थे जिसमें टेरेसा मे की कंज़रवेटिव पार्टी ने पूर्ण बहुमत से जीत हासिल की थी. उनकी सरकार की अवधि 2020 तक है.

मंगलवार को कैबिनेट की बैठक के बाद ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मैं अभी तक इसकी इच्छुक नहीं थी लेकिन, हाल ही में इस निष्कर्ष पर पहुंची हूं कि हमें अभी आम चुनाव कराने की जरूरत है. ब्रिटेन को स्थायित्व चाहिए क्योंकि वह यूरोपीय संघ से बाहर आ रहा है.’ मे ने इस निर्णय के लिए विपक्षी पार्टियों को भी जिम्मेदार बताया है. उनके मुताबिक ब्रेक्जिट की प्रक्रिया में विपक्षी पार्टियां व्यवधान डाल रही हैं.

ब्रिटेन के ‘फ़िक्स्ड टर्म पार्लियामेंट एक्ट’ के अनुसार आम चुनाव हर पांच साल बाद मई के महीने में कराए जाते हैं. अगला आम चुनाव 2020 में होना था. लेकिन टेरेसा मे के प्रस्ताव को ‘हाउस ऑफ़ कॉमन्स’ में दो तिहाई बहुमत मिल जाता है तो आम चुनाव पहले कराए जा सकते हैं. इसकी पूरी संभावना लग रही है क्योंकि ब्रिटेन में विपक्षी लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कोर्बिन ने टेरेसा मे की इस घोषणा का स्वागत किया है.