कश्मीर में स्थानीय युवकों की ओर से भारतीय सेना पर लगातार की जा रही पत्थरबाजी पर अब देश के दूसरे हिस्सों में भी प्रतिक्रिया हो रही है. खबरों के मुताबिक, मेरठ में कुछ पोस्टर लगाए गए हैं जिन पर लिखा है, ‘कश्मीरियो उत्तर प्रदेश छोड़ो, वर्ना...’ जबकि दूसरी घटना में राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में मेवाड़ विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले कश्मीरी छात्रों के साथ मारपीट की खबर है. इन घटनाओं के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी सभी राज्यों को एडवायजरी जारी की है. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को बताया कि उन्होंने सभी राज्यों को निर्देश दिया है कि कोई भी कश्मीरी बच्चों के साथ कहीं बदसलूकी करता है, तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाए.

सोशल मीडिया पर एक बड़े तबके ने राजनाथ सिंह से कहा है कि कश्मीरी छात्रों की सुरक्षा के साथ-साथ उन्हें कश्मीर में भारतीय जवानों के साथ हो रही बदसलूकी को भी ध्यान रखना चाहिए. वहीं राजस्थान और मेरठ की घटनाओं की यहां तीखी आलोचना हुई है. ट्विटर पर सुजान सिंह यादव का कहना है, ‘कश्मीर में अगर कुछ लोग पत्थरबाजी कर रहे हैं तो इसके बदले में कश्मीरी छात्रों के साथ बुरा बर्ताव नहीं किया जाना चाहिए. उन्हें सुरक्षा देने की जरूरत है और यही इंसानियत है.’ इन घटनाओं पर खतरनाक बताते हुए वरिष्ठ पत्रकार अंबरीश कुमार ने फेसबुक पर लिखा है, ‘कश्मीर का फैसला भी यूपी में ही होगा? पाकिस्तान का भी यहीं हुआ था. तभी वो अलग देश बना.’

कोहिनूर हीरे को ब्रिटेन से वापस लाने के मामले पर अब सुप्रीम कोर्ट में और सुनवाई नहीं होगी. शीर्ष अदालत ने शुक्रवार को इससे संबंधित दो याचिकाएं खारिज कर दीं. मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहर की अध्यक्षता वाली तीन जजों की खंडपीठ ने कहा, ‘हम केंद्र के जवाब से संतुष्ट हैं कि सरकार प्रयास कर रही है. इसलिए इस मामले में अदालत को आगे सुनवाई की जरूरत नहीं है. वैसे भी, राजनयिक कोशिशों पर निगरानी रखना अदालत का काम नहीं है.’ सोशल मीडिया पर इस खबर के बहाने लोगों ने कोहिनूर से जुड़ी कई दिलचस्प जानकारियों वाली खबरें शेयर की हैं. ट्विटर पर अंशुल सक्सेना ने ऐसी ही एक जानकारी दी है, ‘भारत के साथ-साथ पाकिस्तान और अफगानिस्तान तो कोहिनूर पर अपना दावा जताते ही हैं, अब ईरान भी कह रहा है कि उसके यहां के बादशाह नादिर शाह ने इस हीरे को यह नाम दिया था.’

इन दोनों ही खबरों पर सोशल मीडिया पर आई कुछ और प्रतिक्रियाएं :

शिवम विज | @DilliDurAst

राजनाथ सिंह ने सभी राज्यों (जम्मू-कश्मीर को छोड़कर?) से कहा है कि वे अपने यहां कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें.

अविनाश चंचल | facebook/avinash.chanchal

कश्मीर हमारा है तो कश्मीरी लोग किसके हैं? उन पर हमला देश पर हमला है या नहीं?

मंजुल | @MANJULtoons

‘बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में भाजपा के शीर्ष नेताओं पर मुकदमा चलेगा’

मलिक अल्ताभ | @MALIK_ALTAF

पूरे एहतराम के साथ कहना चाहता हूं कि, दूसरे राज्य तो छोड़िए, कश्मीरी कश्मीर में भी सुरक्षित नहीं हैं (भारतीय सेना की बदौलत)

तनवीर सलीम | @TanvirSalim1

कोहिनूर को वापस लाया जाए, और उन भगोड़ों को भी जो बाहर छिपे हुए हैं.

प्रियव्रथ निजागल | facebook/priyavratha.nijagal

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वह यूके को कोहिनूर लौटाने का आदेश नहीं दे सकता.
एक तरह से यह ठीक ही है कि वह रानी के पास ही रहे. अगर हमें कोहिनूर मिल गया तो हम उसे गंदे से तौलिए में लपेटकर म्यूजियम के डायरेक्टर की अल्मारी में रखेंगे और बाद में गुम भी कर देंगे.