उत्तर कोरिया को अमेरिका की चेतावनी - राष्ट्रपति ट्रंप की इच्छाशक्ति को न आंकना ही ठीक रहेगा | सोमवार, 17 अप्रैल 2017

उत्तर कोरिया के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम को लेकर अमेरिका की सख्ती बढ़ती जा रही है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा, ‘सीरिया और अफगानिस्तान में अमेरिकी कार्रवाइयों से पूरी दुनिया ने देखा कि हमारे नए राष्ट्रपति की इच्छाशक्ति और ताकत क्या है. उत्तर कोरिया के लिए बेहतर होगा कि वह इस क्षेत्र में राष्ट्रपति की इच्छा शक्ति या अमेरिकी सेना की ताकत को न आंके.’

अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस चार एशियाई देशों की यात्रा पर पहले पड़ाव के तहत सोमवार को दक्षिण कोरिया पहुंचे थे. दक्षिण कोरिया के कार्यवाहक राष्ट्रपति ह्वांग क्यो अहं की मौजूदगी में उन्होंने कहा कि अमेरिका या दक्षिण कोरिया अब आगे उत्तर कोरिया का कोई भी मिसाइल या परमाणु परीक्षण बर्दाश्त नहीं करेगा. माइक पेंस के मुताबिक उत्तर कोरिया को लेकर ‘रणनीतिक धैर्य का युग’ खत्म हो चुका है.

ऑस्ट्रेलिया ने उस वीजा कार्यक्रम को बंद कर दिया है जिसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल भारतीय करते थे | मंगलवार, 18 अप्रैल 2017

अमेरिका की तर्ज पर बेरोजगारी से निपटने के लिए अब ऑस्ट्रेलिया ने भी विदेशी कामगारों पर पाबंदियां लगानी शुरू कर दी हैं. आस्ट्रेलिया सरकार चाहती है कि स्थानीय नौकरियों में उसके नागरिकों को प्राथमिकता मिले. इसके लिए ऑस्ट्रेलिया ने मंगलवार को विदेशियों के बीच लोकप्रिय ‘457’ वीजा कार्यक्रम बंद कर दिया. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मैलकम टर्नबुल ने कहा है, ‘हम एक प्रवासी राष्ट्र हैं, लेकिन सच्चाई यह भी है कि ऑस्ट्रेलिया के भीतर रोजगार में देश के लोगों को प्राथमिकता दी जानी चाहिए.’

इस फैसले से सबसे ज्यादा भारतीय प्रभावित होने वाले हैं, क्योंकि ‘457’ वीजा कार्यक्रम के तहत वीजा पाने वालों में भारतीयों की सबसे बड़ी हिस्सेदारी है. बीते साल 30 सितंबर तक इस वीजा कार्यक्रम के तहत ऑस्ट्रेलिया में 95,000 अस्थायी प्रवासी कार्मिक थे, जिनमें भारतीयों की संख्या 26.8 फीसदी थी, जो किसी भी अन्य देश या समूह की तुलना में सबसे ज्यादा है.

ब्रिटेन में टेरेसा मे ने सबको चौंकाया, तीन साल पहले ही आम चुनाव कराने की घोषणा की | बुधवार, 19 अप्रैल 2017

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा मे ने अचानक बड़ी घोषणा की है. मंगलवार सुबह उन्होंने कहा कि वे देश में इसी साल आठ जून को आम चुनाव चाहती हैं. उनके मुताबिक वे इस प्रस्ताव को जल्द ही संसद में रखेंगी. ब्रिटेन में इससे पहले आम चुनाव साल 2015 में हुए थे जिसमें टेरेसा मे की कंज़रवेटिव पार्टी ने पूर्ण बहुमत से जीत हासिल की थी. उनकी सरकार की अवधि 2020 तक है.

मंगलवार को कैबिनेट की बैठक के बाद ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मैं अभी तक इसकी इच्छुक नहीं थी लेकिन, हाल ही में इस निष्कर्ष पर पहुंची हूं कि हमें अभी आम चुनाव कराने की जरूरत है. ब्रिटेन को स्थायित्व चाहिए क्योंकि वह यूरोपीय संघ से बाहर आ रहा है.’ मे ने इस निर्णय के लिए विपक्षी पार्टियों को भी जिम्मेदार बताया है. उनके मुताबिक ब्रेक्जिट की प्रक्रिया में विपक्षी पार्टियां व्यवधान डाल रही हैं.

पनामा पेपर्स लीक : नवाज शरीफ को फौरी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने दोबारा जांच का आदेश दिया | गुरुवार, 20 अप्रैल 2017

पनामा पेपर्स लीक मामले में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के लिए वहां की शीर्ष अदालत का फैसला फौरी राहत लेकर आया है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय बेंच ने 3-2 के विभाजित मत के जरिए इस मामले पर फैसला सुनाया है. कोर्ट ने नवाज शरीफ और उनके तीन बच्चों (मारिया, हसन और हुसैन नवाज) पर लगे आरोपों की संयुक्त जांच दल (जेआईटी) से दोबारा जांच कराने का आदेश दिया है. इसके साथ ही अदालत ने जेआईटी से 60 दिन के भीतर जांच पूरी करने और रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है.

प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनके तीन बच्चों पर विदेशी खातों के जरिए अपनी बेनामी आय को टैक्स हेवन में छिपाने का आरोप है. यह मामला कानूनी फर्म मोसैक फोन्सेका के दस्तावेज लीक होने के बाद सामने आया था, जो बेनामी आय को छिपाने के लिए फर्जी कंपनियां स्थापित करने में लोगों की मदद करती थी. सुप्रीम कोर्ट में चार जनवरी से इस मामले की सुनवाई चल रही थी.

अरुणाचल प्रदेश की जगहों का नाम बदलना हमारा कानूनी अधिकार है : चीन | शुक्रवार, 21 अप्रैल 2017

अरुणाचल प्रदेश की जगहों के नाम बदलने पर भारत की आपत्ति को खारिज करते हुए चीन ने इसे अपना कानूनी अधिकार बताया है. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा, ‘भारत-चीन सीमा के पूर्वी हिस्से पर चीन की स्थिति स्पष्ट और स्थायी है.’ उन्होंने आगे कहा कि इन मानकीकृत नामों का यहां के मोम्बा और तिब्बती चीनी जैसे मूल निवासी पीढ़ियों से इस्तेमाल करते हैं, जिन्हें बदला नहीं जा सकता.

तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा की हालिया अरुणाचल प्रदेश यात्रा के बाद चीन ने अपने नक्शे में इस राज्य की छह जगहों के नाम बदल दिए थे. चीन ने इसे इन जगहों के नामों का ‘मानकीकरण’ बताया था. इन नामों को चीनी, तिब्बती और रोमन लिपि में जारी किया गया था. चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स का यह भी कहना था कि नामों के मानकीकरण का मकसद ‘दक्षिण तिब्बत’ यानी अरुणाचल प्रदेश पर चीन के दावे को दोहराना है. इसके जवाब में गुरुवार को अरुणाचल प्रदेश को भारत का अभिन्न अंग बताते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय ने प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा था कि पड़ोसी देश द्वारा किसी जगह का नाम पर बदलने से अवैध कब्जा वैध नहीं हो जाता.

अमेरिकी मीडिया का दावा, अल कायदा के मुखिया अयमान अल जवाहिरी को आईएसआई ने कराची में छिपा रखा है | शनिवार, 22 अप्रैल 2017

अमेरिकी मीडिया ने दावा किया है कि आतंकी संगठन अल कायदा का मुखिया अयमान अल जवाहिरी पाकिस्तान में छिपा है. अमेरिकी पत्रिका न्यूजवीक के मुताबिक वह कराची में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस एजेंसी (आईएसआई) में संरक्षण में रह रहा है. मिस्र में जन्मा अल जवाहिरी प्रशिक्षित सर्जन है, जिसे 2001 में अफगानिस्तान में अल-कायदा के खिलाफ अमेरिकी कार्रवाई के बाद फरार होना पड़ा था. उसे ओसामा बिन लादेन का उत्तराधिकारी कहा जाता है.

पिछले चार अमेरिकी राष्ट्रपतियों के लिए दक्षिण एशिया और मध्य पूर्व मामलों के सलाहकार रह चुके ब्रूस रैडल का कहना है कि जवाहिरी कहां है इसका कोई ठोस सबूत नहीं है लेकिन कुछ सामग्री है जो उसके ऐसी ही किसी जगह पर छिपे होने का इशारा करती है. ब्रूस रैडल ने आगे कहा कि एबटाबाद में अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन के खिलाफ कार्रवाई के बाद मिली सामग्री से भी अल जवाहिरी के ऐसी ही किसी जगह पर छिपे होने का संकेत मिलता है.