ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के पति और ड्यूक आॅफ एडिनबर्ग प्रिंस फिलिप ​अगले सितंबर से शाही कामकाज से रिटायर हो जाएंगे. ब्रिटिश राजमहल बकिंघम पैलेस ने गुरुवार को जारी एक बयान में इसकी जानकारी दी. बकिंघम पैलेस के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग ने फैसला लिया है कि वे इस साल सर्दी शुरू होने से पहले सार्वजनिक कामकाज से रिटायर हो जाएंगे. यह उनका निजी फैसला है जिसमें महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की पूरी सहमति है.’ प्रिंस फिलिप व्यक्तिगत तौर पर और महारानी के साथ अगस्त तक पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों में शामिल होते रहेंगे, लेकिन अब वे नए न्यौते स्वीकार नहीं करेंगे.

बकिंघम पैलेस के प्रवक्ता के मुताबिक ड्यूक आॅफ एडिनबर्ग कभी-कभी ​चुनिंदा कार्यक्रमों में शामिल हो सकते हैं. लेकिन यह साफ है कि अब वे सक्रिय भूमिका नहीं निभाएंगे. वैसे कुछ जानकारों का मानना है कि ड्यूक ने अपनी महारानी पत्नी के समर्थन में अपनी भूमिका में कटौती का निर्णय लिया है. उनके अनुसार महारानी अभी भी पद पर बनी रहेंगी, लेकिन वे भी अपना बोझ थोड़ा हल्का करेंगी.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने प्रिंस फिलिप के रिटायरमेंट के फैसले पर अपनी औपचारिक प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा, ‘वह ड्यूक के प्रति कृतज्ञ हैं और उन्हें शुभकामनाएं देती हैं.’ थेरेसा मे के शब्दों में, ‘महारानी को दिए दृढ़ समर्थन से लेकर ड्यूक आॅफ एडिनबर्ग अवार्ड तक और परोपकारी और अच्छे कामों के जरिए उनका योगदान ब्रिटेन, राष्ट्रमंडल और दुनिया के लिए काफी उपयोगी रहा है. इसका फायदा हमें सालों साल तक मिलता रहेगा.’

प्रिंस फिलिप और महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की शादी 70 साल पहले 1947 में हुई थी. प्रिंस फिलिप 10 जून, 1921 को पैदा हुए थे. अगले महीने 96 साल के हो रहे प्रिंस फिलिप दरबार की विज्ञप्ति के अनुसार पिछले साल 110 दिन सरकारी कामों में व्यस्त रहे. 2016 में वे शाही परिवार के पांचवें सबसे व्यस्त सदस्य थे. बकिंघम पैलेस ने बताया कि प्रिंस फिलिप अभी 780 से अधिक संस्थाओं के सदस्य या प्रमुख हैं और वे आगे भी इससे जुड़े रहेंगे.