‘इस हमले के बाद भी हम लालू का भ्रष्टाचार उजागर करते रहेंगे.’   

— सुशील कुमार मोदी, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री

भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी का यह बयान पटना में भाजपा कार्यालय पर कथित राजद समर्थकों के हमले के बाद आया. उन्होंने नीतीश सरकार पर विरोधियों की आवाज को दबाने का भी आरोप लगाया. सुशील कुमार मोदी ने आगे कहा, ​‘हमारा कार्यालय प्रतिबंधित क्षेत्र में आता है, इसलिए हमें भी उसके बाहर धरना देने की इजाजत नहीं मिली थी. ऐसे में राजद के सैकड़ों गुंडों को विरोध करने की इजाजत कैसे मिल गई?’ पुलिस पर ऐसे लोगों को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए भाजपा नेता ने राज्य सरकार में मंत्री तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव को बर्खास्त करने की मांग की.

‘पी चिदंबरम सोनिया गांधी का काला धन सफेद करते थे.’   

— सुब्रमण्यम स्वामी, भाजपा के नेता

सुब्रमण्यम स्वामी का यह बयान पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम पर निशाना साधते हुए आया. उन्होंने पी चिदंबरम पर आरोप लगाया, ‘वे शायद सबसे भ्रष्ट हैं. उन्होंने हर उस कानून की अवहेलना की जिसकी रक्षा की उन्होंने शपथ ली थी.’ भाजपा नेता ने यह भी कहा कि पी चिदंबरम ने अपने बेटे को गलत तरीके से फायदा पहुंचाया. उन्होंने मोदी सरकार के भी तीन अधिकारियों पर पी चिदंबरम का वफादार होने का आरोप लगाया. सुब्रमण्यम स्वामी ने शंका जाहिर की कि वित्त मंत्रालय के ये अधिकारी आयकर विभाग की जांच प्रभावित कर सकते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस के वफादार हर जगह फैले हुए हैं और उन्हें हटाने में थोड़ा समय तो लगेगा.


‘फैसला वापस नहीं लिया तो इसके गंभीर नतीजे होंगे.’   

— सैयद नूरुर रहमान बरकती, कोलकाता की टीपू सुल्तान मस्जिद के शाही इमाम

सैयद नूरुर रहमान बरकती का यह बयान कोलकाता की टीपू सुल्तान मस्जिद के शाही इमाम पद से अपनी बर्खास्तगी के बाद आया. उन्होंने कहा, ‘इमाम समुदाय का मुखिया होता है. मस्जिद के ट्रस्टी उसे हटाने वाले कौन होते हैं. उन्हें इसके लिए मीडिया के सामने माफी मांगनी होगी.’ नूरुर रहमान बरकती ने मस्जिद के संचालकों पर भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया. उन्होंने दावा किया कि सेवा समाप्ति और निष्कासन जैसे शब्द किसी इमाम पर लागू ही नहीं होते.


‘उत्तर और दक्षिण कोरिया में टकराव की पूरी आशंका है.’   

— मून जे-इन, दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन का यह बयान उत्तर कोरिया द्वारा किए गए हालिया मिसाइल परीक्षण को लेकर आया. उनका कहना था कि सीमा के मुद्दे पर उनके देश का उत्तर कोरिया के साथ सैन्य टकराव होने की पूरी आशंका है. मून जे-इन ने यह भी कहा कि उत्तर कोरिया ने हाल के दिनों में अपनी मिसाइल और परमाणु क्षमता में काफी इजाफा कर लिया है. उत्तर कोरिया के साथ बातचीत के समर्थक मून जे-इन ने कहा कि उनका देश उत्तर कोरिया के किसी भी हमले का जवाब देने में सक्षम है.