‘तेलंगाना को दक्षिण भारत में भाजपा के लिए प्रवेश द्वार बनना चाहिए.’

— अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का यह बयान तेलंगाना की तीन दिवसीय यात्रा के दौरान आया. नलगोंडा जिले में जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि 2019 में तेलंगाना में भाजपा की ही सरकार बनेगी. सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति की सरकार पर हमला बोलते हुए अमित शाह ने आरोप लगाया कि वह केंद्र की मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ राज्य की जनता तक नहीं पहुंचने दे रही है. उनका यह भी कहना था कि मोदी सरकार चट्टान की तरह देश की चुनौतियों का सामना कर रही है. भाजपा अध्यक्ष के मुताबिक बीते साल नियंत्रण रेखा पर सर्जिकल स्ट्राइक ने सशस्त्र बलों का मनोबल बढ़ाने का काम किया है.

‘सेना कश्मीर में आतंकवाद को केवल नियंत्रित कर सकती है, खत्म नहीं.’

— असदुद्दीन ओवैसी, एआईएमआईएम के अध्यक्ष

हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी का यह बयान कश्मीर में उपद्रव और आतंकवादी घटनाओं में बढ़ोतरी पर चिंता जताते हुए आया. उन्होंने कहा कि घाटी में सेना के तलाशी अभियानों का गलत असर पड़ रहा है. राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था को बहाल करने में भाजपा-पीडीपी सरकार को विफल बताते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि भाजपा राष्ट्रवाद के नाम पर अपनी नाकामियां छिपा रही है. उन्होंने सैन्य शिविरों पर आतंकी हमलों को लेकर भी केंद्र सरकार को निशाने पर लिया. केंद्र सरकार को घेरते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने यह भी पूछा कि कश्मीर को लेकर मोदी सरकार की क्या नीति है या फिर कोई नीति है भी या नहीं?


‘पाकिस्तानी सेना के बंकर तबाह करना उसे मुकम्मल जवाब देना नहीं है.’

— संजय राउत, शिवसेना सांसद

सांसद संजय राउत का यह बयान मंगलवार को नियंत्रण रेखा पर भारतीय सेना की कार्रवाई के बाद आया. भारतीय सेना ने 30 सेकेंड का वीडियो जारी कर पाकिस्तानी सेना के बंकरों को ध्वस्त करने का दावा किया है. पाकिस्तान को लेकर केंद्र सरकार की नीति पर सवाल उठाते हुए संजय राउत ने कहा, ‘हम यही कह सकते हैं कि यह कार्रवाई भारतीय सेना ने की है.’ लेकिन, शिवसेना के दूसरे नेता अरविंद सावंत ने भारतीय सेना की इस कार्रवाई को पाकिस्तान द्वारा किए जाने वाले संघर्ष विराम उल्लंघन का ठोस जवाब बताया. उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय सेना को लाहौर में तिरंगा फहराने तक नहीं रुकना चाहिए.


‘सहारनपुर की जातीय हिंसा के लिए योगी सरकार जिम्मेदार है.’

— मायावती, बसपा प्रमुख

बसपा प्रमुख मायावती ने यह बात सहारनपुर के जातीय हिंसाग्रस्त गांव शब्बीरपुर का दौरा करने के बाद कही. उन्होंने भाजपा सरकार पर शांतिपूर्ण तरीके से रहते आ रहे दलितों और राजपूतों के बीच दरार पैदा करने का आरोप लगाया. मायावती ने आगे कहा कि अगर प्रशासन ने दलितों को बाबा साहेब और राजपूतों को महाराणा प्रताप की जयंती पर कार्यक्रम करने की इजाजत दी होती तो कोई विवाद ही पैदा न होता. उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ने दावा किया कि उनके चार बार मुख्यमंत्री रहने के दौरान प्रदेश में सांप्रदायिक टकराव की एक भी घटना नहीं हुई थी.


‘मैं बस इतना कह सकता हूं कि कुलभूषण जाधव अभी जिंदा है.’

— अब्दुल बासित, भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त

अब्दुल बासित का यह बयान पाकिस्तान में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को सैन्य अदालत द्वारा सुनाई गई मौत की सजा के मुद्दे पर आया. बीते हफ्ते भारत की याचिका पर अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने अंतिम फैसला आने तक इस पर रोक लगा दी थी और कहा था कि पाकिस्तान को भारतीय राजनयिकों को कुलभूषण जाधव से मिलने की इजाजत देनी चाहिए. इस पर अब्दुल बासित ने कहा कि कुलभूषण जाधव का मामला बहुत संवेदनशील है. उन्होंने आगे बताया कि कुलभूषण जाधव से मुलाकात को लेकर उनकी मां की अर्जी पाकिस्तानी विदेश सचिव को मिल चुकी है. हालांकि, पाकिस्तानी उच्चायुक्त ने नियंत्रण रेखा पर भारतीय सैनिकों का सिर काटे जाने की घटना के पीछे पाकिस्तानी सेना का हाथ होने से इनकार किया.