‘रोजगार विहीन विकास का आरोप लगाने वाले सच्चाई से दूर खड़े हैं.’

— कलराज मिश्र, केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्री

केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र का यह बयान मोदी सरकार के अब तक के कार्यकाल में रोजगार घटने के विपक्ष के आरोपों को खारिज करते हुए आया. उन्होंने कहा कि उनके मंत्रालय द्वारा संचालित रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत ही बीते तीन साल में 11 लाख लोगों को नौकरियां मिली हैं. अपने मंत्रालय के तीन साल के कामकाज का ब्यौरा देते हुए कलराज मिश्र ने यह माना कि शुरुआत में रोजगार सृजन में परेशानी आई थी और नोटबंदी के बाद भी कुछ नौकरियां खत्म भी गई थीं, लेकिन यह समस्या अगले कुछेक महीने में ही दूर हो गई थी. केंद्रीय मंत्री ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों के लिए बहुत जल्द एक व्यापक नीति लाए जाने की घोषणा की.

पेरिस समझौता रहे न रहे, भारत जलवायु संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध बना रहेगा.

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह बात रूस में सेंट पीटर्सबर्ग इंटरनेशनल इकॉनॉमिक फोरम को संबोधित करते हुए कही. उन्होंने कहा, ‘जलवायु परिवर्तन को लेकर भारत एक जिम्मेदार देश है. हम प्रकृति से लाभ ले सकते हैं, लेकिन उसका शोषण करना हमारे लिए अस्वीकार्य है.’ पेरिस समझौते के मुद्दे पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ होंगे या औरों के, इस सवाल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वे आने वाली पीढ़ियों के पक्ष में रहना चाहेंगे. प्रधानमंत्री मोदी का यह भी कहना था कि पूरी दुनिया को अपनी आने वाली पीढ़ी के लिए पर्यावरण को सुरक्षित बचाकर रखना होगा जिससे उसे स्वच्छ हवा में सांस लेने और स्वस्थ जिंदगी जीने का मौका मिल सके.


‘दुआ करती हूं कि वह दिन बहुत जल्द आए जब कश्मीरी पंडित पूरे सम्मान के साथ अपने घर लौटें.’

— महबूबा मुफ्ती, जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती का यह बयान कश्मीर के गंदरबल जिले में माता खीर भवानी मंदिर के सालाना उत्सव में शामिल होने के बाद आया. मेले के पहले दिन को कश्मीर पंडितों के लिए खास बताते हुए उन्होंने कश्मीर में शांति और एकता कायम होने के लिए भी दुआ मांगी. राज्य की धार्मिक एकता के प्रतीक खीर भवानी मेले में शामिल होने के लिए सैकड़ों की संख्या में कश्मीरी पंडित कश्मीर पहुंच रहे हैं. मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से पहले राज्य के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने खीर भवानी मेले की व्यवस्था का जायजा लिया था और सुरक्षा सहित अन्य इंतजामों को संतोषजनक बताया था.


‘पश्चिम बंगाल सरकार मौजूदा स्वरूप में जीएसटी का समर्थन नहीं करेगी.’

— ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का यह बयान वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) से असंगठित क्षेत्र को कोई मदद न मिलने का आरोप लगाते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘अमित मित्रा (राज्य के वित्त मंत्री) केंद्र सरकार के सामने जीएसटी से जुड़े सवालों को रखेंगे.’ वहीं, आयकर विभाग के एक विज्ञापन का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर नोटबंदी के लिए केंद्र सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘देश में अभी भी वित्तीय आपातकाल लागू है. लोगों को अपने हिसाब से अपने कमाए हुए पैसों को बैंकों से निकालने की आजादी नहीं है.’ आयकर विभाग द्वारा जारी इस विज्ञापन में लोगों को दो लाख रुपये से ज्यादा की नगद निकासी पर जुर्माने के बारे में चेतावनी दी गई थी.


‘डोनाल्ड ट्रंप का फैसला पृथ्वी के भविष्य के लिए ऐतिहासिक भूल है.’

— इमानुएल माक्रों, फ्रांस के राष्ट्रपति

फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल माक्रों का यह बयान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा पेरिस समझौते से पीछे हटने के ऐलान पर आया. उन्होंने कहा, ‘जलवायु परिवर्तन आज हमारे समय का सबसे बड़ा मुद्दा है. यह पूरी दुनिया में हमारी रोजमर्रा की जिंदगी को बदल रहा है.’ फ्रांस के राष्ट्रपति ने आगे कहा, ‘अगर हमने कुछ नहीं किया तो हमारे बच्चों के सामने विस्थापितों और अभावों से जूझती एक बेहद खतरनाक दुनिया होगी. हम अपने लिए, अपने बच्चों के लिए और इस दुनिया के लिए ऐसा भविष्य नहीं चाहते हैं.’ फ्रांस के राष्ट्रपति का यह भी कहना था कि पेरिस समझौते की मौजूदा शर्तों को कमजोर करने वाला कोई भी बदलाव मंजूर नहीं किया जाएगा. इससे पहले डोनाल्ड ट्रंप ने पेरिस समझौते को भारत और चीन के पक्ष में बताया था और इसकी शर्तों को दोबारा तय करने पर जोर दिया था.