विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर अमेरिका के विदेश मंत्री ने रेक्स टिलरसन ने पेरिस समझौते पर एक बड़ा बयान दिया है. खबर के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गए टिलरसन ने सिडनी में कहा, ‘राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जलवायु परिवर्तन पर अपनी सहभागिता बरकरार रखना चाहते हैं. उन्होंने इस मुद्दे को छोड़ा नहीं है.’ हालांकि उनके मुताबिक राष्ट्रपति ट्रंप का मानना है कि यह समझौता अमेरिका के आर्थिक हितों को पूरा नहीं करता.

रेक्स टिलरसन ने अमेरिका की ओर से वैश्विक समुदाय को इस समझौते को लेकर आश्वस्त करने की कोशिश की. उन्होंने कहा, ‘मैं समझता हूं कि राष्ट्रपति ट्रंप इस समझौते से संबंधित कोई नया प्रारूप लाना चाहते हैं और इसका उन्होंने यह संकेत भी दिया है.’ बताया जाता है कि टिलरसन ने डोनाल्ड ट्रंप को पर्यावरण संरक्षण से संबंधित इस अहम समझौते से अलग नहीं होने का सुझाव दिया था. बीते हफ्ते अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा था कि समझौते से हटने के बाद भी अमेरिका ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन में कमी लाने के लिए अपनी कोशिशें जारी रखेगा.

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बीती दो जून को विश्व के 195 देशों के बीच किए गए पेरिस समझौते से हटने का ऐलान किया था. इस मौके पर उन्होंने भारत और चीन पर निशाना साधते हुए कहा था कि इस समझौते के तहत चीन और भारत जैसे देश तो कोयले का उत्पादन तो बढ़ा सकते हैं लेकिन अमेरिका नहीं, जो नाइंसाफी है. डोनाल्ड ट्रंप के इस ऐलान के बाद वैश्विक समुदाय में अमेरिका के इस फैसले की काफी आलोचना हुई थी.