चुनाव आयोग ने बुधवार को राष्ट्रपति चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान कर दिया है. खबरों के मुताबिक इसके लिए 14 जून को अधिसूचना जारी हो जाएगी. उम्मीदवारों द्वारा नामांकन भरने की अंतिम तारीख 28 जून होगी. 29 जून को आयोग द्वारा नामांकनों की जांच किए जाने के बाद उम्मीदवार एक जुलाई तक अपना नाम वापस ले सकते हैं. देश के सबसे बड़े संवैधानिक पद के लिए 17 जुलाई को संसद और राज्यों की विधानसभा में मतदान होना है. इसके बाद 20 जुलाई को इसके नतीजे घोषित किए जाएंगे. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है.

मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने बताया कि मतदान बैलेट पेपर पर होगा. बताया जाता है कि आयोग बैलेट पर पर उम्मीदवारों के नाम के आगे निशान लगाने के लिए एक खास कलम उपलब्ध कराएगा. इसके अलावा किसी और कलम का इस्तेमाल करने पर वोट की गिनती नहीं की जाएगी. चुनाव आयोग ने कहा कि इस चुनाव को लेकर कोई भी पार्टी अपने विधायक या सांसदों को व्हिप जारी नहीं कर सकती. व्हिप जारी किए जाने पर इन्हें पार्टी द्वारा तय किए गए उम्मीदवारों को ही वोट देना होता है.

अभी तक सत्ता पक्ष या विपक्ष ने इस चुनाव के लिए कोई नाम तय नहीं किया है. कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी पार्टियों ने उम्मीदवार चुनने को लेकर गेंद राष्ट्रीय प्रजातांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के पाले में डाल दी है. विपक्ष का मानना है कि सत्ता पक्ष द्वारा नामित उम्मीदवार पर सहमति न होने पर वह अपना संयुक्त उम्मीदवार उतारेगा. उधर, भाजपा ने भी विपक्ष से बातचीत करने के बाद राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार घोषित करने की बात कही है.