मध्यप्रदेश पुलिस ने तनावग्रस्त मंदसौर जा रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को गिरफ्तार कर लिया है. वे मंगलवार को पुलिस फायरिंग में मारे गए किसानों के परिजनों और आंदोलनरत किसानों से मिलने जा रहे थे. खबरों के मुताबिक पुलिस ने उन्हें राजस्थान-मध्य प्रदेश सीमा पर नयागांव में बनाई गई एक अस्थायी जेल में रखा है. पुलिस फायरिंग के बाद मंदसौर की स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है, जिसे देखते हुए प्रशासन ने उन्हें यहां जाने की इजाजत नहीं दी थी.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने राज्य के किसानों की बदहाली के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को जिम्मेदार ठहराया है. मोदी सरकार को उद्योगपतियों की सरकार करार देते हुए उन्होंने कहा, ‘मोदी जी किसानों का कर्ज माफ नहीं कर सकते, किसानों को केवल गोली दे सकते हैं.’ इससे पहले प्रशासन द्वारा मंदसौर जाने की इजाजत न मिलने के बारे में ट्विटर पर कांग्रेस उपाध्यक्ष ने लिखा था कि ‘देश में ऐसा कौन सा कानून है जिसके तहत अपने अधिकारों की मांग करते हुए मारे किसानों के साथ खड़ा होना गैर-कानूनी है?’

इस बीच मध्यप्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने स्वीकार किया है कि मंगलवार को मंदसौर की पिपल्या मंडी में पुलिस फायरिंग से ही पांच किसानों की मौत हुई थी. राज्य सरकार पिछले दो दिनों से पुलिस फायरिंग होने से इनकार कर रही थी. इसमें छह किसान घायल हुए थे. मध्य प्रदेश के मंदसौर में किसान अपनी फसलों की उचित दाम सहित 20 सूत्रीय मांगों को लेकर एक जून से आंदोलन कर रहे हैं.