भारत के रोहन बोपन्ना ने गुरुवार को कनाडा की गैब्रिएला डाब्रोवस्‍की के साथ मिलकर फ्रेंच ओपन का मिश्रित युगल खिताब अपने नाम कर लिया है. ऐसा करते ही वे ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने वाले देश के चौथे खिलाड़ी बन गए. उनसे पहले लिएंडर पेस, महेश भूपति और सानिया मिर्जा ने भारत के लिए ग्रैंड स्लैम खिताब जीते हैं.

बोपन्ना-डाब्रोवस्की की भारतीय-कनाडाई जोड़ी ने पेरिस में खेले गए फाइनल मुकाबले में कोलंबिया के राबर्ट फारा और जर्मनी की लीना ग्रोएनेफील्ड को 2-6, 6-2, 12-10 से हराया. इस टूर्नामेंट में सातवीं वरीयता प्राप्त बोपन्ना-डाब्रोवस्की की जोड़ी ने सेमीफाइनल में तीसरी वरीयता प्राप्त आंद्रिया हलावास्कोवा और एडुआर्ड रोजर वेसलीन को हराया था.

बोपन्ना सात साल के अंतराल के बाद किसी ग्रैंडस्लैम के फाइनल में पहुंचने में कामयाब हुए थे. इससे पहले उन्होंने 2010 में पाकिस्तान के ऐसाम उल हक कुरैशी के साथ अपना पहला ग्रैंड स्लैम फाइनल अमेरिकी ओपन में खेला था. लेकिन तब वे फाइनल मुकाबला हार गए थे. भारत के लिए लिएंडर पेस ने सबसे ज्यादा (10) मिश्रित युगल खिताब जीते हैं.