देश की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी मारुति-सुजुकी बाजार पूंजीकरण के लिहाज से अब देश की आठवीं बड़ी कंपनी बन गयी है. शुक्रवार को अपने शेयर मूल्य में तीन फीसदी बढ़त के साथ मारुति ने इंफोसिस और ओएनजीसी जैसे दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया. इस दिन मारुति-सुज़ुकी का शेयर बीईएसई में 7451 रुपए पर पहुंच गया था.

अप्रवासी कामगारों को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सख़्त नीतियों के चलते आईटी सेक्टर में भारी उठापटक जारी है. इसके चलते इस क्षेत्र की अन्य कंपनियों की तरह इंफोसिस के शेयर में भी गिरावट देखने को मिली है. वहीं दूसरी तरफ मारुति की कारों को बाजार से मिल रही जबरदस्त प्रतिक्रिया के चलते मारुति का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) पिछले तीन साल में 57,939 करोड़ से बढ़कर 2,25,079 करोड़ यानी करीब चार गुना ज्यादा हो गया है. इससे पहले मई में मारुति-सुजुकी का मार्केट कैप दो लाख करोड़ रू से ऊपर पहुंच गया था. मारुति पहली भारतीय ऑटोमोबाइल कंपनी है जिसने यह मुकाम हासिल किया है. अब वह विश्व की 12वीं सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी बन गयी है.

पिछले कुछ सालों की बात करें तो ऑटो कारोबार में जबरदस्त बढ़ोतरी देखी गयी है. इस दौरान पैसेंजर गाड़ियों की बिक्री सबसे ज्यादा हुई है. मारुति की बात करें तो 2013-14 में कंपनी के 25.03 लाख वाहन बिके थे जबकि 2016-17 में यह संख्या बढ़कर 30.46 लाख यूनिट पहुंच गयी.

सलमान खान के बीइंग ह्यूमन ने ई-साइकिल लॉन्च की

विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर अभिनेता सलमान खान ने अपने प्रशंसकों को खास तोहफा दिया है. इस सोमवार उन्होंने अपने ब्रांड बीइंग ह्यूमन के तहत इलेक्ट्रिक साइकिल लॉन्च की है. किसी आम साइकल की ही तरह दिखने वाली यह साइकिल, दो वेरिएंट- बीएच-27 और बीएच-12 के साथ चार रंगों (सफेद, पीला, लाल और काला) में उपलब्ध होगी.

सलमान खान अपने भाई सोहेल खान के साथ
सलमान खान अपने भाई सोहेल खान के साथ

इस मौके पर सलमान का कहना था, ‘लोगों को लंबी यात्रा करनी होती है तो वे साइकिल से ट्रैवल करने के बारे में सोचते भी नहीं हैं. लेकिन आसान पैडल और रिचार्जेबल मोटर सपोर्ट होने के कारण ये ई साइकलें शहर और गांव दोनों जगहों पर चलाने में आसान हैं.’ इससे पहले सलमान ने ट्वीट के जरिए इस बारे में जानकारी दी थी.

बताया जा रहा है कि एआरएआई द्वारा सर्टिफायड ये साइकिलें एक बार चार्ज करने पर 25 किमी/घंटे की अधिकतम रफ़्तार से 30 किमी तक की दूरी तय कर सकेंगी. खास बात यह भी है कि इन्हें चलाने के लिए किसी ड्राइविंग लाइंसेस या रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं है. खबरें हैं कि इन साइकलों को पिछले डेढ़ साल से टेस्ट किया जा रहा था.

कीमत की बात करें तो बीइंग ह्यूमन के दूसरे उत्पादों की तरह ही ये साइकलें भी सलमान के मध्यमवर्गीय प्रशंसक के लिए निराशा ही लाती हैं. साइकल के शुरुआती मॉडल के लिए कंपनी ने 40,000 रुपए और इसके टॉप वैरिएंट के लिए 57,000 रुपए तय किए हैं, जो एक आम भारतीय ग्राहक के लिहाज से काफी ज्यादा हैं.

महिंद्रा ने स्कॉर्पियो का ऑटोमैटिक वेरिएंट बंद किया

यदि आप एसयूवी सेगमेंट पर राज करने वाली स्कॉर्पियो का ऑटोमैटिक वेरिएंट खरीदने की सोच रहे हैं तो यह खबर आपके काम की हो सकती है. महिंद्रा एंड महिंद्रा ने करीब दो साल पहले लॉन्च हुए स्कॉर्पियो के एएमटी वैरिएंट की बिक्री बंद करने की घोषणा की है. अपनी वेबसाइट से इस कार की कीमतों को हटाते हुए महिंद्रा ने ट्वीट के जरिए इस बात पर मुहर लगा दी है. जानकारों के मुताबिक यह ऐसे लोगों के लिए एक अवसर हो सकता है जो इस कार को खरीदना चाहते हैं. वे डीलर से जमकर मोलभाव कर सकते हैं.

महिंद्रा स्कॉर्पियो
महिंद्रा स्कॉर्पियो

इस वेरिएंट को बंद करने की वजह के बारे में जानकारों का कहना है कि महिंद्रा साल के अंत तक स्कॉर्पियो का फेसलिफ्ट वर्जन उतारने की तैयारी में है. चर्चा है कि इसमें कंपनी के ही दूसरे प्रमुख एसयूवी एक्सयूवी-500 का नया 6-स्पीड ऑटो ट्रांसमिशन बॉक्स उपलब्ध करवाया जाएगा जो मौजूदा गियर बॉक्स से ज्यादा सहज और उन्नत है.

फिलहाल स्कॉर्पियो का हायर वेरिएंट (एस10) 2.2 लीटर इंजन के साथ बाजार में उपलब्ध है जो 5-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन बॉक्स से जुड़े होने के साथ 120 पीएस की अधिकतम पॉवर और 280 एनएम का टॉर्क पैदा करता है. इसका बेस वैरिएंट (एस2) अभी भी 2.5 लीटर क्षमता के इंजन के साथ आता है जो 75 पीएस की अधिकतम पॉवर के साथ 200 एनएम का अधिकतम टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. अलग-अलग वेरिएंट के हिसाब से कंपनी ने स्कॉर्पियो की कीमत करीब 10 लाख रुपए से लेकर 14 लाख (दिल्ली एक्स शोरूम) रुपए तय की है.