घरों के बाहर कार पार्किंग को लेकर दिल्ली सरकार की नई नीति राजधानी के कार मालिकों की जेब पर भारी पड़ सकती है. दिल्ली में अमूमन लोग घरों के बाहर अपनी गाड़ियां पार्क कर देते हैं जिससे सड़क का बड़ा हिस्सा घिर जाने से ट्रैफिक जाम की स्थिती बनी रहती है. वाहनों की बढ़ती संख्या और घरों के बाहर कार पार्क करने से होने वाली परेशानियों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने नई पार्किंग नीति का मसौदा तैयार किया है. इसमें कर और शुल्क के जरिये कई कारें रखने और सड़क किनारे पार्किंग पर रोक लगाने का प्रस्ताव है.

इसके मुताबिक सड़क पर गाड़ी पार्क करने के लिए रात के बजाय दिन और पीक आवर्स में ज्यादा शुल्क वसूला जाएगा. साथ ही सप्ताह के आम दिनों और अवकाश वाले दिनों की पार्किंग के लिए अलग-अलग फीस चुकानी होगी. इस नीति में यह भी कहा गया है कि पार्किंग प्रबंधन को मांग प्रबंधन के तौर पर इस्तेमाल किया जाना चाहिए ताकि निजी वाहनों की संख्या कम की जा सके और लोगों को सार्वजनिक परिवहन के माध्यमों का इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके. उपराज्यपाल अनिल बैजल ने इस नीति को हरी झंडी दिखा दी है. फिलहाल अगले एक महीने तक इस मसौदे पर आम जनता के सुझाव मांगे गये हैं.

लगभग दो करोड़ जनसंख्या वाली राजधानी में तकरीबन एक करोड़ से ज्यादा वाहन हैं. इनमें से करीब 9.5 लाख वाहन निजी हैं जो घरों के बाहर सड़क पर ही खड़े कर दिए जाते हैं. जहां दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने दिल्ली सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है वहीं कार मालिकों और विक्रेताओं के माथे पर इसने पसीना ला दिया है.

फॉक्सवैगन ने नयी पोलो से पर्दा हटाया

जर्मन कार निर्माता कंपनी फॉक्सवैगन ने अपनी प्रमुख हैचबैक कार पोलो का नया वर्जन पेश किया है. कंपनी ने अंतरराष्ट्रीय बाजार के लिए तैयार इस नयी कार को बर्लिन में एक मोटर शो के दौरान लॉन्च किया है. इसे पोलो की सिक्स्थ जेनेरेशन यानी छठवीं पीढ़ी कहा जा रहा है.

फॉक्सवैगन पोलो- सिक्स्थ जनरेशन
फॉक्सवैगन पोलो- सिक्स्थ जनरेशन

लुक्स के मामले में भले यह कार अपने पुराने वेरिएंट से मिलती-जुलती ही नज़र आती है लेकिन गौर करने पर पता चलता है कि कंपनी ने इसे बिल्कुल नया रूप देने की कोशिश की है. फॉक्सवैगन ने इस नयी पोलो के डायमेंशन्स में खास बदलाव किए हैं, जैसे- इसकी लंबाई को पहले से 81 मिमी और चौड़ाई को 69 एमएम बढ़ाया गया है. हालांकि कार की कुल ऊंचाई को सात मिमी कम किया गया है, लेकिन इसके व्हील बेस में 94 मिमी की बढ़ोतरी की गयी है. जिसके चलते इसके बूट स्पेस (351 लीटर) के साथ केबिन स्पेस में भी बढ़ोतरी हो गई है. फॉक्सवैगन का दावा है कि यह कार अपने सेगमेंट में सबसे ज्यादा इंटीरियर स्पेस वाली कार होगी.

एक्सटिरियर के मामले में कंपनी ने पोलो को एलईडी डे रनिंग लैंप्स, सिंगल स्लेट ग्रिल, चौड़े एयर डैम और नए एलईडी टेल लैंप्स जैसी खूबियों से नवाजा है. वहीं इंटीरियर्स के लिहाज से भी फॉक्सवैगन ने इस नयी कार को कई सौगाते दी हैं, जिनमें 6.5 इंच से लेकर 8.0 इंच तक की इंफोटेनमेंट स्क्रीन खास है. बताया जा रहा है कि अधिकतर यूरोपियन बाजारों में साल के अंत तक यह कार देखने को मिल सकती है. जानकारों का कहना है कि भारतीय बाजार के लिहाज से नयी पोलो में कुछ खास बदलाव कर इसे अगले साल तक यहां उतारा जा सकता है. फिलहाल फॉक्सवैगन ने इसके लिए 12,975 यूरो यानि करीब 9.37 लाख रुपए कीमत तय की है.

मर्सिडीज़ ने भारत में दो नए एसयूवी उतारे

जर्मनी की लग्जरी कार निर्माता मर्सिडीज़ ने भारत के बाजार में दो नए एसयूवी लॉन्च किए हैं. बताया जा रहा है कि लंबे समय से कार प्रेमियों को इन गाड़ियों का इंतजार था. एमजी जी 63 (463 एडीशन) और एमजी जीएलएस 63 नाम की इन दो कारों को इस बुधवार बाजार में उतार दिया गया.

मर्सिडीज़ एमजी जी 63 (463 एडीशन) और एमजी जीएलएस 63
मर्सिडीज़ एमजी जी 63 (463 एडीशन) और एमजी जीएलएस 63

इस मौके पर मर्सिडीज़ ने बयान जारी कर जानकारी दी है कि अब भारत के बाजार में उसकी एसयूवी गाड़ियों की संख्या बढ़कर आठ हो गयी है. साथ ही कंपनी ने उम्मीद भी जताई है कि वह इस सेगमेंट में बढ़त बनाए रखने में सफल रहेगी. गाड़ियों की खूबियों की बात करें तो एएमजी जी 63 में 5.5 लीटर की क्षमता का वी8 पेट्रोल इंजन लगा है जिसकी मदद से यह कार महज 5.4 सेंकड के अंतराल में 0 से 100 किमी/घंटा की रफ़्तार पकड़ने के साथ 210 किमी/घंटा की रफ़्तार से चलने में सक्षम है. वहीं एएमजी जीएलएस 63, 5.5 लीटर क्षमता वाले वी8 ट्विन टर्बो इंजन से लैस है जो इस कार को 576 एचपी पॉवर के साथ 760 एनएम का अधिकतम टॉर्क देता है. इसके अलावा यह कार 4.6 सेकंड में 0 से 100 किमी/घंटा की रफ़्तार पकड़ने में सक्षम है.

इन गाड़ियों की खास बात यह भी है कि इनके ग्राहक इन्हें अपने हिसाब से भी मॉडिफाइ करवा सकेंगे. कीमत की बात करें तो मर्सिडीज़ ने एमजी जी 63 के स्पेशल एडिशन के लिए 2.17 करोड़ और एमजी जीएलएस 63 के लिए 1.58 करोड़ रुपए (पुणे एक्स शोरूम) कीमत तय की है.