कार खरीदने से ज्यादा बड़ी चुनौती यह तय करने में होती है कि आखिर खरीदी कौन सी जाए? आजकल लगभग एक से बजट में अलग-अलग कंपनियों की आई-20 और बलेनो जैसी प्रीमियम हैचबैक, डिजायर और एक्सेंट जैसी लोकप्रिय सिडान या फिर इकोस्पोर्ट, ब्रेजा और टीयूवी-300 जैसे कॉम्पेक एसयूवी या क्रॉसओवर उपलब्ध हैं. कार चुन भी ली तो एक और यक्ष प्रश्न खड़ा हो जाता है कि वेरिएंट कौन सा लिया जाए? क्योंकि कहने को तो एक ही कार होती है लेकिन इसके लो और हाई वेरिएंट में करीब दो से चार लाख रुपए का अंतर तक हो सकता है. ऐसे में अगर आपका बजट कम है लेकिन मन हाई टेक फीचर में अटक रहा है तो बड़ी दुविधा वाली बात हो जाती है.

लेकिन अपनी जेब पर दो-चार लाख रु का अनचाहा बोझ डाले बिना आप इस समस्या से निज़ात पा सकते हैं. यहां हम आपको पांच ऐसे गैजेट के बारे में बता रहे हैं जिन्हें बाहर यानी लोकल कार बाजार से लगवाया जा सकता है. ये गैजेट आपको किसी हाईटेक स्मार्ट कार का पूरा मजा देते हैं और आपकी जेब पर भारी भी नहीं पड़ते. चूंकि इनका इंजन से कोई कनेक्शन नहीं होता है तो गाड़ी की परफॉर्मेंस के प्रभावित होने का खतरा नहीं रहता. सिर्फ नयी ही नहीं, यदि आपके पास कोई पुरानी कार भी है तो भी आप इन गैजेट के सहारे अपनी कार को स्मार्ट बना सकते हैं. यानी कम हींग फिटकरी में ही रंग चोखा हो सकता है.

इमोबिलाइज़र रिमोट लॉकिंग

इमोबिलाइज़र रिमोट लॉकिंग सिस्टम आजकल की कारों में सुरक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण होने के साथ बाजार में आसानी से उपलब्ध होने वाली ऐसेसरी में शुमार है. ऐसी कई कंपनियां हैं जो काफी हाईटेक रिमोट लॉकिंग फीचर उपलब्ध करवाती हैं. ये डिवाइस जीपीएस ट्रेकिंग सुविधा से लैस होने के साथ आपके फोन से भी जुड़ने में सक्षम है. इसकी मदद से आप न सिर्फ अपनी कार को कहीं पर भी सुरक्षित खड़ी कर सकते हैं बल्कि चोरी हो जाने पर उसे आसानी से ट्रैक भी कर सकते हैं. अलग-अलग स्टैंडर्ड के रिमोट लॉकिंग डिवाइस के लिए आपको 4000 से लेकर 12000 रुपए तक की कीमत चुकानी पड़ सकती है.

ब्लूटूथ डिवाइस

ट्रैफिक नियमों को ध्यान में रखते हुए यह डिवाइस आपके लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हो सकती है. यदि ड्राइविंग के दौरान आपके फोन पर कोई ऐसी कॉल आती है जिसे अटेंड करना आपके लिए जरूरी है और आप गाड़ी नहीं रोकना चाहते या नहीं रोक सकते तो यह गैजेट आपके लिए बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है. बाजार की कई नामचीन कंपनियां जैसे मोटोरोला, नोकिया भी इस तरह की एसेसरी का निर्माण करती हैं जिनसे ब्लूटूथ के जरिए आप अपने फोन को जोड़ सकते हैं. इनमें से कई हाईटेक गैजेट में ब्लूटूथ रीयर व्यू मिरर फेसिलिटी भी मिलती है. इसके जरिए रीयर व्यू मिरर में आपको कॉल कर रहे व्यक्ति का नंबर दिख जाता है. इतना ही नहीं, आप अपने ब्लूटूथ को एफएम या केबल के जरिए कार के म्यूजिक सिस्टम से भी जोड़ सकते हैं. यह उपकरण आपको बाजार में 5000 से 40000 रुपए तक में मिल सकता है.

पार्किंग सेंसर

पार्किंग सेंसर बेहद उपयोगी एसेसेरी है क्योंकि शहरों में कम होती जगह के इस दौर में अपनी कार को बिना कहीं टकराए पार्क करना बड़ी चुनौती बन गया है. खास तौर पर तब जब आपके पास कोई सिडान या एसयूवी हो. ऐसे में यह गैजेट आपकी गाड़ी को स्क्रैच और डेंट फ्री पार्क करवाने में काफी मदद कर सकता है. 2000 से लेकर 15000 रुपए की कीमत के बीच उपलब्ध होने वाले ये सेंसर अलग-अलग तकनीक से लैस होते हैं. इनमें से कुछ कार के पीछे या बगल में कोई ऑब्जेक्ट आने पर लगातार बीप की आवाज निकालते हैं, जबकि अन्य हाईटेक वेरिएंट उस ऑब्जेक्ट से आपकी कार की दूरी समेत कई महत्वपूर्ण निर्देश ऑडियो फॉर्मेट में देते हैं.

रियर व्यू कैमरा

आमतौर पर लोगों को गाड़ी बैक लेते समय असहजता महसूस होती है. कई बार कुछ छोटे ऑबजेक्ट्स आपकी गाड़ी के पीछे होते हैं जो रियर व्यू मिरर से नहीं दिखाई देते और कार से टकरा जाते हैं. इसके अलावा भी कई लोगों को बैक करते समय पीछे स्थित किसी चीजे से दूरी का सही अंदाजा नहीं हो पाता और गाड़ी पर डेंट आने की संभावना बन जाती है. ऐसे में यह उपकरण आपकी कार को किसी भी तरह के झटके से बचाने में आपकी मदद कर सकता है. इसकी मदद से आप कार में लगी स्क्रीन पर गाड़ी का रियर व्यू देख सकते हैं. यदि आपकी कार में पहले से ही डीवीडी डिस्प्ले स्क्रीन मौजूद है तो आप इससे सीधे ही रियर व्यू कैमरा को जुड़वा सकते हैं. यदि ऐसा नहीं है तो आप पूरा सेट भी खरीद सकते हैं जिनमें पार्किंग सेंसर भी उपलब्ध होते हैं. इसका डिस्पले आपकी कार के डैशबोर्ड को ध्यान में रखते हुए फिट किया जा सकता है. इसके अलावा बाजार में कुछ रियर मिर्रस भी उपलब्ध हैं जिनके अंदर ही आपको इनबिल्ट डिस्प्ले स्क्रीन मिल सकती है. रियर व्यू कैमरा के लिए आपको 2000 से 15000 रुपए चुकाने पड़ सकते हैं.

फुट स्टेप लाइट

ऐसा मौका कई बार आपके सामने आया होगा जब आपको अंधेरे में अपनी कार पार्क करनी पड़ी होगी. ऐसे में कार से उतरते समय कई बार आपके पैर ऐसी जगहों पर पड़ जाते हैं, जहां से आपको बचना चाहिए था. यह न सिर्फ बुरा महसूस करवाता है बल्कि दोबारा गाड़ी में बैठने पर आपकी कार के गंदे होने का कारण भी बनता है. ऐसे में यह उपकरण आपके लिए मददगार साबित हो सकता है. फुट स्टेप लाइट गाड़ी के दरवाजों के नीचे की तरफ लगी होती है, जो दरवाजों के खुलते ही अपने आप जल जाती है. इस तरह कार से निकलते समय आप आसानी से जमीन को देख सकते हैं और अपने जूतों और कार को गंदा होने से भी बचा सकते हैं. यह डिवाइस संख्या के हिसाब से ड्राइव साइड, फ्रंट डोर्स और रियर डोर्स तीन तरह के विकल्प के साथ उपलब्ध रहती है. बाजार में फुट स्टेप लाइट आपको 1000 से लेकर 5000 रुपए तक में मिल सकती है.