जीएसटी यानी वस्तु एवं सेवा कर के लागू होने के बाद देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति-सुजुकी ने अपनी चुनिंदा कारों के दाम तीन फीसदी तक घटा दिए हैं. बदली हुई कीमतों को लेकर कंपनी का कहना है कि वह जीएसटी का पूरा लाभ अपने ग्राहकों तक पहुंचा रही है. हालांकि इस कटौती के साथ मारुति ने अर्टिगा और सियाज़ जैसी अपनी लोकप्रिय हाइब्रिड गाड़ियों के दामों में एक लाख रुपए से ज्यादा बढ़ोतरी की भी घोषणा की है.

फिलहाल अलग-अलग राज्यों की टैक्स दरों में भिन्नता होने के कारण यह पूरी तरह साफ नहीं हो पाया है कि किस राज्य में गाड़ियों की कीमतों में कितना बदलाव किया जाएगा. मारुति-सुजुकी का कहना है कि वह जल्द ही इन बदली हुई कीमतों का खुलासा कर देगी.

जीएसटी लागू होने के बाद बताया जा रहा है कि बड़ी एसयूवी और सेडान कारों की कीमतों में सबसे ज्यादा कटौती देखने को मिलेगी. मारुति की प्रतिद्वंदी ह्युंडई की बात करें तो इसकी लोकप्रिय कॉम्पैक एसयूवी क्रेटा के दामों में करीब 50 हजार रु की कटौती देखने को मिल सकती है. अपनी गाड़ियों की कीमतों को लेकर ह्युंडई का कहना है कि आखिरी कीमत तय करने में अभी माथापच्ची करनी पड़ रही है. खबरों के मुताबिक ह्युंडई ने कहा है कि कंपनी ग्राहकों को भरोसा दिला चुकी है कि यदि उसके ग्राहकों ने जीएसटी के पहले अपनी गाड़ियां खरीदी या बुक करवाई हैं तो उन्हें उसका लाभ दिया जाएगा.

रॉयल इनफील्ड ने हिमालयन का प्रोडक्शन रोका-

खबरों की मानें तो रॉयल इनफील्ड ने अपनी टूअरिंग बाइक हिमालयन का प्रोडक्शन फिलहाल रोक दिया है. हालांकि अभी तक कंपनी की तरफ से इस बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गयी है, लेकिन कई डीलर्स का कहना है कि अप्रैल में बीएस-IV (वाहनों से जुड़े) नियमों के लागू होने के बाद कंपनी ने अभी तक एक भी हिमालयन बाइक की डिलीवरी नहीं दी है.

रिपोर्ट ये भी बताती हैं कि लॉन्च होने के एक साल के भीतर हिमालयन से लोगों का आकर्षण खत्म होता दिख रहा था. आंकड़ों की तरफ देखें तो- सितंबर 2016 में हिमालयन की 1263 यूनिट, जनवरी 2017 में 638 यूनिट और फरवरी 2017 में 491 यूनिटों की बिक्री दर्ज की गयी थी. लेकिन कुछ डीलर्स के पास हिमालयन का पुराना स्टॉक मौजूद होने के बावजूद मई-2017 में इस बाइक की बिक्री जीरो पर ही सिमट गयी.

रॉयल इनफील्ड-हिमालयन
रॉयल इनफील्ड-हिमालयन

बताया जाता है कि लॉन्चिंग के बाद से ही हिमालयन को बाजार से अच्छी प्रतिक्रिया नहीं मिल रही थी. कई ग्राहकों ने हिमालयन के खराब प्रदर्शन को लेकर कंपनी से शिकायत की थी. जिसके बाद रॉयल इनफील्ड ने पिछली जुलाई हिमालयन की कई यूनिट को वापिस भी मंगवाया था.

भारत को टूअरिंग बाइक्स के लिहाज से अच्छा बाजार माना जाता है. जिसमें हिमालयन सबसे किफायती टुअरिंग बाइकों में शुमार है, लेकिन इसकी सेल और प्रोडक्शन दोनों के बंद होने से कंपनी और देसी बाइक लवर्स दोनों को निराशा हो सकती है. हालांकि कंपनी का कहना है कि वह जल्द ही हिमालयन का अपडेटेड वर्जन लॉन्च करेगी. ऐसे में यह देखने वाली बात होगी कि नयी हिमालयन अपने राइडर्स की शिकायतों को दूर कर पाने में कितनी सफल रहती है? मौजूदा हिमालयन 411 सीसी के 4-स्ट्रॉक एयर कूल्ड इंजन के साथ 24.5 एचपी की पॉवर और 32 एनएम का अधिकतम टॉर्क पैदा करने में सक्षम है.

डैटसन रेडी-गो का पॉवरफुल वेरिएंट जल्द ही लॉन्च हो सकता है

भारतीय बाजार में हैचबैक गाड़ियों की खासी डिमांड को देखते हुए कई बड़े खिलाड़ी इस सेगमेंट को लेकर गंभीरता बरत रहे हैं. जिसका नतीजा है कि कई छोटी कारों में शानदार फीचर्स के साथ अच्छा-खासा दम भी देखने को मिल रहा है. रेनो-क्विड को इसके उदहारण के तौर पर देखा जा सकता है.

अब जापानी कार निर्माता निसान की सहयोगी कंपनी डैटसन भी इसी राह पर है. कंपनी की हैचबैक कार रेडी-गो को बाजार में आए करीब एक साल हो गया है और इसे अब तक मिली प्रतिक्रिया संतोषजनक है. जिसे देखते हुए डैटसन ने इसके अपडेटेड-पॉवरफुल वेरिएंट को लॉन्च करने का मन बना लिया है. जानकारों का कहना है कि महीने के अंत तक यह नई कार ग्राहकों के लिए उपलब्ध हो सकती है.

डैटसन रेडी-गो
डैटसन रेडी-गो

फिलहाल रेडी-गो 0.8 लीटर क्षमता के इंजन के साथ बाजार में उपलब्ध है. जिसे अपडेट करके 1.0 लीटर क्षमता के इंजन से बदला जाएगा. नयी कार के लिए डैटसन वही इंजन और प्लेटफॉर्म उपयोग में ले रही है जिसे फिलहाल क्विड 1.0 लीटर में उपयोग में लाया गया है.

यह इंजन 999 सीसी क्षमता के साथ 68 पीएस पॉवर और 91 एनएम का अधिकतम टॉर्क उत्पन्न करने में सक्षम है. फिलहाल रेडी-गो का 799 सीसी का इंजन तीन सिलेंडर के साथ 54 पीएस की अधिकतम पॉवर और 72 एनएम का टॉर्क पैदा करता है. बताया जा रहा है कि जल्द ही डैटसन क्विड की तरह रेडी-गो का ऑटोमैटिक वेरिएंट भी लॉन्च कर सकती है.

मौजूदा रेडी-गो को मारूति सुजुकी ऑल्टो और रेनो क्विड के प्रतिद्वंदी के तौर पर देखा जाता रहा है. जानकारों का कहना है कि नए इंजन के साथ यह कार ऑल्टो के-10 और रेनो-1.0 लीटर को टक्कर दे सकती है. रेडी-गो की मौजूदा कीमत 2,41,200 रुपए (एक्स शोरूम दिल्ली) है जो नए मॉडल के साथ करीब 25000 रुपए बढ़ सकती है.