अरुणाचल प्रदेश में लापता हुए भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्टर का मलबा बुधवार को मिल गया. अंग्रेजी समाचार चैनल टाइम्स नाउ के अनुसार राज्य के पापुम पारे जिले में मिले इस मलबे के सा​थ चालक दल के सभी तीन सदस्यों के शव भी मिले हैं. वायुसेना का यह विमान घने जंगलों वाले इस इलाके में मंगलवार शाम को अचानक लापता हो गया था.

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार विंग कमांडर एमएस ढिल्लन इस हेलीकॉप्टर के पायलट थे. वे चालक दल के कमांडिंग आॅफिसर भी थे. उनके अलावा विमान में फ्लाइट लेफ्टिनेंट पीके सिंह और एक फ्लाइट इंजीनियर भी सवार थे. ये तीनों इस स्वदेशी एडवांस्ड लाइट हेलीकॉप्टर में सवार होकर भारी बारिश से हुए भूस्खलन के बाद राहत अभियान चला रहे थे. कल शाम उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद चार बजे के आसपास यह हेलीकॉप्टर लापता हो गया था.

बुधवार को इस हेलीकॉप्टर की गहन खोजबीन की गई. इसमें भारतीय सेना के अलावा आईटीबीपी और राज्य पुलिस के जवानोंं को लगाया गया. पहाड़ों और जंगलोंं में कई घंटों तक चले खोजी अभियान के बाद हेलीकॉप्टर के मलबे और शवों को खोज निकाला गया. दो महीने पहले भी एक सुखोई-30 लड़ाकू ​विमान असम और अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिसमें वायुसेना के दो पायलट मारे गए थे.