सिक्किम सेक्टर में चीन के साथ सैन्य गतिरोध के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की प्रशंसा की है. जर्मनी के हैंबर्ग में जी-20 सम्मेलन से इतर ब्रिक्स देशों के नेताओं की अनौपचारिक बैठक में उन्होंने कहा, ‘राष्ट्रपति शी जिनपिंग के नेतृत्व में ब्रिक्स ने सकारात्मक प्रगति की है.’ आगामी ब्रिक्स सम्मेलन के लिए चीन के राष्ट्रपति को शुभकामनाएं देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसमें सहयोग करने का वादा भी किया. ब्रिक्स देशों में भारत और चीन के अलावा ब्राजील, रूस और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं. इसका 9वां शिखर सम्मेलन सितंबर में चीन में प्रस्तावित है.

रिपोर्ट के मुताबिक इस अनौपचारिक बैठक में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की तरफ से भी भारत के लिए सकारात्मक प्रतिक्रिया आई. उन्होंने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत की प्रतिबद्धता और आर्थिक प्रगति की सराहना की. जी-20 सम्मेलन और ब्रिक्स नेताओं की बैठक से इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच द्विपक्षीय बैठक का कोई कार्यक्रम नहीं है. हालांकि, प्रधानमंत्री मोदी जापान, दक्षिण कोरिया, ब्रिटेन और कनाडा जैसे देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे.

उधर, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने चीन के साथ सीमा विवाद पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मौन रहने पर सवाल उठाया है. ट्विटर पर उन्होंने लिखा, ‘हमारे प्रधानमंत्री चीन पर चुप क्यों हैं?’ इस हफ्ते यह दूसरा मौका है जब राहुल गांधी ने विदेश नीति को लेकर प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा है. इससे पहले अमेरिका यात्रा के दौरान एच-1बी वीजा और अमेरिका द्वारा जम्मू-कश्मीर के आगे ‘भारत प्रशासित’ शब्द के इस्तेमाल पर मौन रहने का सवाल उठाया था.