उत्तर प्रदेश के विधानसभा भवन से गुरुवार को करीब 150 ग्राम विस्फोटक पदार्थ पीईटीएन बरामद किया गया था. इस घटना को लेकर प्रदेश के सुरक्षा हलकों में हलचल मची हुई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके पीछे आतंकी साजिश की आशंका जताते हुए कहा है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से इसकी जांच कराई जाएगी. मुख्यमंत्री ने आज विधानसभा में जानकारी दी है कि 500 ग्राम पीईटीएन पूरे विधानसभा भवन को उड़ाने के लिए पर्याप्त है. यह खबर और मुख्यमंत्री के इन बयानों को आज सोशल मीडिया पर खूब तवज्जो मिली है.

इस घटना के बहाने भाजपा विरोधियों और अन्य लोगों ने राज्य सरकार को कटघरे में खड़ा किया है. दिनेश सिंह का ट्वीट है, ‘जब उत्तर प्रदेश विधानसभा के अंदर विस्फोटक पदार्थ मिल रहा हो तो समझिए कि यूपी की जनता कितनी असुरक्षित है!’ वहीं इस मामले पर हैरत जताते हुए भी कई प्रतिक्रियाएं आई हैं. फेसबुक पर सचिन श्रीवास्तव ने लिखा है, ‘क्या उत्तर प्रदेश विधानसभा में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं? देश की सबसे बड़ी विधानसभा की आखिर सुरक्षा कैसे की जाती है?...अगर दोषी पकड़ में न आएं तो शासन-प्रशासन पर लानत है.’ इस पूरे प्रकरण पर तंज भरी टिप्पणियों की भी भरमार है.

श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और देश के खेल मंत्री अर्जुन रणतुंगा ने आरोप लगाया है कि 2011 के विश्वकप का फाइनल मैच फिक्स था. इसमें भारत ने श्रीलंका को छह विकेट से हराया था. रणतुंगा ने फेसबुक एक वीडियो पोस्ट करके यह आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि वे फाइनल मैच के दौरान कॉमेंटरी कर रहे थे और जब उनकी टीम हारी तो उन्हें इस हार पर शक हुआ था. श्रीलंका टीम के पूर्व कप्तान ने कहा है कि वे इस समय यह सब नहीं बता सकते कि उस दिन क्या हुआ था, लेकिन एक दिन इसका खुलासा जरूर करेंगे. इस खबर के चलते ट्विटर और फेसबुक पर आज रणतुंगा भी एक ट्रेंडिंग टॉपिक बने. यहां ज्यादातर भारतीयों ने उनके ऊपर तंज कसते हुए इस आरोप को खारिज किया है. ट्विटर हैंडल @graphicalcomic पर ऐसी ही एक टिप्पणी है, ‘... हमें यह पता है कि आप (अर्जुन रणतुंगा) विकेटों के बीच दौड़ने में सुस्त हैं, लेकिन यह अंदाजा कतई नहीं था कि आप लगातार छह साल तक सो सकते हैं.’

इन दोनों खबरों पर सोशल मीडिया में आई कुछ और प्रतिक्रियाएं :

विकास योगी | @vikaskyogi

उत्तर प्रदेश की विधानसभा में विस्फोटक पाया गया है. अब आप उत्तर प्रदेश में कहां सुरक्षित हैं? भाजपा सरकार केंद्र से लेकर राज्य तक, हर जगह पूरी तरह असफल है.

भाड़ में जा | @iAbhishek_J

उत्तर प्रदेश के विधानसभा भवन में विस्फोटक पाउडर पाया गया है... शुक्र है कि तब वहां मायावती नहीं थीं, नहीं तो वे कहतीं कि यह दलित की बेटी को मारने की साजिश है.

सतीश आचार्य | @satishacharya

शांति के नोबल पुरस्कार से सम्मानित चीन के मानवाधिकार कार्यकर्ता ल्यू शियाबो की हिरासत के दौरान ही मौत हो गई है.

समीर राज | facebook/sameer7raj

उत्तर प्रदेश विधानसभा भवन के भीतर बम पाया गया है. इससे पहले कि कोई और कहे मुझे कहने दिया जाए कि बम का कोई धर्म और जाति नहीं होती!

शकुनि मामा | @ShakuniUncle

उत्तर प्रदेश विधानसभा में विस्फोटक तत्व हमेशा से रहे हैं, लेकिन पता पहली बार चला है.

सुमित मेहर | @trump_thats_me

अर्जुन रणतुंगा को यह पता लगाने में छह साल लग गए कि 2011 का विश्वकप फाइनल मैच फिक्स्ड था... अरे भाई इंटरनेट एक्सप्लोरर और आईआरसीटीसी की वेबसाइट भी आपसे तेज चलती है.

एच राम चौधरी | @h_ram1

लोग अर्जुन रणतुंगा की आलोचना क्यों कर रहे हैं? क्रिकेट मैच तो बाकायदा स्क्रिप्ट वाला ड्रामा होता है जहां पैसा तय करता है कि कौन जीतेगा और कौन हारेगा.