इसी महीने की 26 तारीख से भारतीय क्रिकेट टीम का श्रीलंका दौरा शुरू होने वाला है. तय कार्यक्रम के मुताबिक वहां छह सितंबर तक भारतीय टीम तीन टेस्ट, पांच एकदिवसीय और एक टी-20 मैच खेलेगी. लेकिन लगता है कि उसके इस दौरे पर मैच फिक्सिंग से जुड़े आरोपों का साया भी मंडराता रहेगा. हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित ख़बर से इस तरह का संकेत मिलता है.

अख़बार के मुताबिक पूर्व श्रीलंकाई कप्तान अर्जुन रणतुंगा के आरोपों ने श्रीलंका में फिर एक नई बहस को जन्म दिया है. रणतुंगा ने अपने फेसबुक पेज पर एक वीडियो पोस्ट किया है. इसमें उन्होंने कहा है, ‘हमें इसकी जांच करानी चाहिए थी कि 2011 के विश्व कप फाइनल में श्रीलंका के साथ क्या हुआ था. मैं ख़ुद उस वक़्त भारत में ही था. मैच के दौरान कमेंट्री कर रहा था. मगर जब हम (श्रीलंकाई) हारे तो मैं हैरान रह गया. मुझे इस (मैच के नतीज़े) पर संदेह था.’ उन्होंने कहा, ‘मैं इस वक़्त हर चीज का ख़ुलासा नहीं कर सकता. लेकिन एक न एक दिन ज़रूर करूंगा. हमें इसकी जांच करानी चाहिए.’ किसी का भी नाम लिए बग़ैर उन्होंने कहा कि खिलाड़ी अपनी साफ-सुथरी सफेद क्रिकेट ड्रेस पर लगे दागों को यूं ही नहीं हटा सकते.

ग़ौरतलब है कि विश्व कप फाइनल में पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका ने 50 ओवर में छह विकेट खोकर 274 रन बनाए थे. भारतीय पारी के दौरान महज़ 18 रन के स्कोर पर सचिन तेंदुलकर कैच आउट हो चुके थे. यहां तक श्रीलंका की टीम काफी मज़बूत स्थिति में दिख रही थी. लेकिन फिर अचानक उसकी ख़राब गेंदबाजी और ढीले क्षेत्ररक्षण का जो सिलसिला शुरू हुआ वह टीम की हार पर जाकर ही थमा. यही नहीं फाइनल जैसे अहम मैच में श्रीलंका ने अपने चार मुख्य खिलाड़ियों- एंजेलो मैथ्यूज, अजंता मेंडिस, रंगना हेराथ और चामरा सिल्वा को भी नहीं खिलाया. इस फैसले को भी टीम की हार का ज़िम्मेदार बताया गया. श्रीलंकाई मीडिया ने टीम पर कई सवाल उठाए. मामले की जांच की मांग की. लेकिन वह कभी हुई नहीं.

हालांकि अब जबकि भारतीय टीम श्रीलंका के दौरे पर जा रही है तो रणतुंगा ने फिर इस मामले को हवा दे दी है. ऐसे में इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि भारतीय टीम को फाइनल मैच की फिक्सिंग के संबंध में श्रीलंकाई मीडिया के तीखे सवालों का सामना करना पड़े. और ध्यान देने लायक यह भी है कि एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला के दौरान पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी टीम के साथ होंगे, जिनकी अगुवाई में भारत ने श्रीलंका को हराकर 2011 का विश्व कप जीता था.