स्पेन की गार्बाइन मुगुरुजा ने अमेरिका की वीनस विलियम्स को हराते हुए साल के तीसरे टेनिस ग्रैंड स्लैम विंबलडन का महिला एकल खिताब अपने नाम कर लिया. सेंटर कोर्ट पर खेले गए खिताबी मुकाबले में 23 वर्षीया मुगुरुजा अपने से 14 साल बड़ी वीनस पर हावी रहीं. उन्होंने पांच बार विंबलडन का खिताब जीत चुकी वीनस को सीधे सेटों में 7-5, 6-0 से हरा दिया.

मुगुरुजा का यह पहला विंबलडन और दूसरा ग्रैंड स्लैम खिताब है. उन्होंने पिछले साल फ्रेंच ओपन का खिताब भी अपने नाम किया था. वे 1994 के बाद टेनिस के इस सबसे लोकप्रिय ग्रैंड स्लैम खिताब को जीतने वाली पहली ​स्पेनिश महिला खिलाड़ी बन गईं. उस साल कोचिता मार्टिनेज ने यह खिताब अपने नाम किया था. दिलचस्प बात यह है कि नियमित कोच की गैर-हाजिरी में इस टूर्नामेंट में मुगुरुजा की कोचिता मार्टिनेज ही हैं. विलियम्स बहनों में सबसे बड़ी वीनस ने अब तक सात ग्रैंड स्लैम जीते हैं. ​वे आठ साल बाद विंबलडन के फाइनल में पहुंचने में कामयाब हुईं थी.

वहीं रविवार को खेले जाने वाले पुरुष एकल के फाइनल में महान रोजर फेडरर का मुकाबला क्रोएशिया के मारिन सिलिक से होगा. अब तक 18 ग्रैंड स्लैम जीत चुके ​फेडरर के नाम सात विंबलडन खिताब हैं. यदि फेडरर यह खिताब जीत जाते हैं तो वे आठ बार यह खिताब जीतने वाले पहले खिलाड़ी बन जाएंगे. साथ ही वे 35 साल की उम्र के बाद एक ही साल में दो ग्रैंड स्लैम जीतने वाले इकलौते खिलाड़ी भी हो जाएंगे.