‘तेजस्वी यादव 26 साल की उम्र में 26 संपत्तियों के मालिक कैसे बन गए?’

— सुशील कुमार मोदी, बिहार में भाजपा वरिष्ठ नेता

सुशील कुमार मोदी ने यह सवाल बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की संपत्तियों का ब्यौरा सार्वजनिक करते हुए पूछा. उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव 13 संपत्तियों के सीधे, जबकि 13 संपत्तियों के कंपनियों के जरिए मालिक हैं. सुशील कुमार मोदी ने आगे कहा कि तेजस्वी यादव तीन साल की उम्र में ही दो भूखंडों के मालिक बन गए थे. भाजपा नेता के मुताबिक तेजस्वी यादव ने अपनी 90 फीसदी संपत्ति 2004 से 2009 के बीच हासिल की है. इससे पहले सीबीआई ने 2006 में रेलवे के होटलों के ठेके में कथित अनियमितता को लेकर तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव के अलावा राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

‘गोवा में बीफ की किल्लत नहीं होने देंगे.’

— मनोहर पर्रिकर, गोवा के मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का यह बयान गोवा विधानसभा में राज्य में बीफ की किल्लत के सवाल पर आया. भाजपा द्वारा गोहत्या और गोमांस का विरोध किए जाने के बावजूद उन्होंने कहा, ‘मैंने बेल्जियम या अन्य जगहों से बीफ के आयात करने का विकल्प बंद नहीं किया है.’ मनोहर पर्रिकर ने आगे कहा कि पड़ोसी राज्यों से आने वाले बीफ की जांच का इंतजाम किया जाएगा, जिसके लिए डॉक्टर या अन्य व्यक्ति को अधिकृत किया जा सकता है. इससे पहले केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा था बीफ खाना सभी का अधिकार है और गोरक्षकों को नरभक्षक नहीं बनना चाहिए.


‘मौत की सजा मध्ययुगीन और गलत व्यवस्था है, मैं इसके खिलाफ हूं.’

— गोपालकृष्ण गांधी, उपराष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार

गोपालकृष्ण गांधी ने यह बात मुंबई बम धमाकों में दोषी याकूब मेनन की फांसी की सजा का विरोध करने के बारे में सफाई देते हुए कही. उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन का पर्चा भरने के बाद उन्होंने कहा, ‘मैंने महात्मा गांधी और बाबा साहेब अंबेडकर से प्रेरणा लेकर मेनन की फांसी का विरोध किया था, क्योंकि वे इसके खिलाफ थे और इसे खत्म करना चाहते थे.’ गोपालकृष्ण गांधी ने आगे कहा कि इस समय देश को बांटने वाली शक्तियां सक्रिय हैं और यही सबसे बड़ा खतरा है. पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल ने खुद को देश की आम जनता का प्रतिनिधि बताया.


‘अगर उपराष्ट्रपति चुना गया तो उसकी परंपराओं और मर्यादाओं का सम्मान करूंगा.’

— वेंकैया नायडू, उपराष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के प्रत्याशी

पूर्व केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू का यह बयान उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन का पर्चा भरने के बाद आया. उन्होंने कहा कि वे उस पद की जिम्मेदारियों से परिचित हैं, जिसे सर्वपल्ली राधाकृष्णन, जाकिर हुसैन, एम हिदायतुल्लाह, आर वेंकटरमण और शंकर दयाल शर्मा जैसे महान लोग संभाल चुके हैं. अपने समर्थन के लिए भाजपा, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताते हुए वेंकैया नायडू ने कहा कि उनके लिए पार्टी छोड़ना तकलीफदेह है. इसके साथ उन्होंने यह भी कहा, ‘अब मैं दलगत विभाजन का हिस्सा नहीं हूं.’ वेंकैया नायडू ने पांच अगस्त को उपराष्ट्रपति चुनाव के बाद राज्यसभा से इस्तीफा देने की बात कही है.


‘मुक्त व्यापार वास्तव में मूर्खतापूर्ण व्यापार है.’

— डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिका के राष्ट्रपति

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का यह बयान मुक्त व्यापार नीति को भेदभावपूर्ण बताते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘दुनिया कई ऐसे देश हैं जो हमारे उत्पादों पर 100 फीसदी टैक्स लगाते हैं, लेकिन हम उनके उत्पादों पर कोई टैक्स नहीं लगाते.’ अमेरिकी कंपनियों और कर्मचारियों को संरक्षण देने का वादा करते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने आगे कहा कि अमेरिका भी व्यापार को लेकर दूसरे देशों के साथ उनके जैसा ही व्यवहार करेगा. अमेरिकी राष्ट्रपति का यह बयान उस वक्त आया है जब उनकी पारिवारिक कंपनियों द्वारा भारत, चीन और बांग्लादेश जैसे देशों से उत्पाद खरीदने के चलते उन्हें आलोचना का सामना करना पड़ रहा है.