रिलायंस जिओ द्वारा शर्तों के साथ मुफ्त में 4जी फीचर फोन की लॉन्चिंग की घोषणा की खबर को आज के अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. खबरों के मुताबिक मुकेश अंबानी ने बताया कि इस फोन के लिए लोगों को एकमुश्त 1,500 रुपये देने होंगे और तीन साल के बाद अगर कोई ग्राहक फोन वापस करता है तो कंपनी उसे यह रकम लौटा देगी. गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता शंकर सिंह वाघेला द्वारा पार्टी छोड़ने की खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. उन्होंने शुक्रवार को कहा कि पार्टी उन्हें 24 घंटे पहले ही निकाल चुकी थी.

देश में कृषि संकट के बीच प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत अनुबंधित कंपनियों ने 10 हजार करोड़ रुपये का लाभ कमाया

देश में कृषि संकट के बीच प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत अनुबंधित कंपनियों ने बीते साल खरीफ मौसम (जून-नवंबर) के दौरान करीब 10,000 करोड़ रुपये का लाभ कमाया है. हिंदुस्तान टाइम्स ने सेंटर फॉर साइंस एंड एनवॉयरमेंट (सीएसई) की रिपोर्ट के हवाले से यह खबर छापी है. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अप्रैल, 2017 तक बीमा कंपनियों ने कुल दावों में से केवल एक-तिहाई (33 फीसदी) का ही निपटारा किया है. सीएसई के मुताबिक किसानों ने कुल 5,962 करोड़ रुपये का दावा किया था. बताया जाता है कि कंपनियों ने प्रीमियम के रूप में किसानों और सरकारों से कुल 15,891 करोड़ रुपये हासिल किए. उधर, एग्रीकल्चरल इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इंडिया के अजय सिंघल ने बताया कि दावों का लगातार निपटारा किया जा रहा है.

आयकर विभाग ने 19,000 करोड़ रुपये के कालेधन का पता लगाया : केंद्रीय वित्तमंत्री

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हुए अलग-अलग खुलासों के बाद आयकर विभाग ने 19,000 करोड़ रुपये के कालेधन का पता लगाया है. द हिंदू की एक रिपोर्ट के मुताबिक यह बात शुक्रवार को केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में कही. उन्होंने कहा कि इंटरनेशनल कन्सॉर्टियम ऑफ इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स (आईसीआईजे) द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक 700 भारतीयों से संबंधित दस्तावेजों से पता चला है कि उन्होंने 11,010 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम बाहर भेजी है. जेटली ने आगे बताया कि 31 मामलों में से संबंधित कुल 72 शिकायतें आपराधिक अदालतों में दर्ज की गई है.

रेलवे स्टेशनों और ट्रेनों में परोसे जाने वाला खाना यात्रियों के खाने लायक नहीं : सीएजी रिपोर्ट

नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) ने अपनी रिपोर्ट में रेलवे की खानपान सेवाओं पर गंभीर सवाल उठाए हैं. शुक्रवार को संसद में पेश उसकी रिपोर्ट में कहा गया है कि रेलवे स्टेशनों और ट्रेनों में परोसे जाने वाला खाना यात्रियों के खाने लायक नहीं है. रेलवे के खाने में कीलें, कॉकरोच और कीड़े भी पाए गए हैं. हिन्दुस्तान ने इसे पहले पन्ने पर जगह दी है. अखबार के मुताबिक सीएजी ने रेलवे के अधिकारियों के साथ संयुक्त जांच में पाया कि खाना बनाने में साफ-सफाई का भी ध्यान नहीं रखा जाता. इसके अलावा यात्रियों से अधिक पैसे भी वसूले जा रहे हैं. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि रेलवे खानपान की गुणवत्ता की जांच और नियंत्रण को प्रभावी ढंग से लागू करने में विफल रहा है.

आज का कार्टून

रिलायंस जिओ द्वारा ‘मुफ्त’ में 4जी फीचर फोन ‘लाइफ-जिओ फोन’ की लॉन्चिंग की घोषणा पर द एशियन एज में प्रकाशित आज का कार्टून :