सिक्किम के पास डोकलाम पर जारी सीमा विवाद के बीच चीन द्वारा उत्तराखंड में घुसपैठ की खबर को आज के कई अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. बताया जा रहा है कि बीती 25 जुलाई को चीनी सैनिक भारतीय सीमा में करीब एक किलोमीटर अंदर घुस आए और उन्होंने इलाके में मौजूद चरवाहों को भगा दिया. हालांकि इलाके में करीब दो घंटे बिताने के बाद ये सैनिक वापस चले गए. इसके अलावा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के केंद्र सरकार में शामिल होने से इनकार और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान को भी अखबारों ने प्रमुखता से छापा है. नीतीश कुमार ने कहा है कि 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुकाबला करने की कुव्वत किसी में नहीं है.

छत्तीसगढ़ में गायों के लिए एंबुलेंस सेवा

छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार गायों के लिए एंबुलेंस सेवा शुरू करने की तैयारी में है. द एशियन एज की एक रिपोर्ट के मुताबिक ये सेवा शुरुआत में 10 जिलों में दी जाएगी. मुख्यमंत्री रमन सिंह ने रायपुर स्थित पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘गाय को सिर्फ मां कहना काफी नहीं है, हमें यह भी देखना होगा कि हम उसके साथ कैसा बर्ताव करते हैं.’ इसके आगे उन्होंने कहा कि सरकार गौशालाओं की जांच करेगी और शीर्ष 10 गौशालाओं को हर साल 10 लाख रुपये की मदद दी जाएगी. छत्तीसगढ़ से पहले उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार भी इस तरह की सेवा शुरू करने का ऐलान कर चुकी है.

कानून और कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन हमारे खून और संस्कृति में है : मुख्य न्यायाधीश खेहर

न्यायिक अवमानना को लेकर सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहर ने अपनी नाराजगी जाहिर की है. राजस्थान पत्रिका ने इसे मुख्य पृष्ठ पर जगह दी है. अखबार के मुताबिक एक मामले की सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस ने कहा, ‘आखिरकार ठहरे तो हम भारतीय ही. कानून और कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन हमारे खून और संस्कृति में है.’ मुख्य न्यायाधीश ने विजय माल्या का संदर्भ देते हुए कहा, ‘आज यह चलन बनता चला जा रहा है कि मैं कानून का पालन नहीं करूंगा. कोर्ट के निर्देशों को नहीं मानूंगा. जो भी हो, इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता.’ उनका आगे कहना था, ‘अगर आप चाहते हैं कि देश तरक्की करे तो आपको कानून का पालन करना होगा, नहीं तो आपको सजा तो भुगतनी ही पड़ेगी.’

ई-कॉमर्स कंपनी स्नैपडील ने फ्लिपकार्ट के साथ अधिग्रहण को लेकर बातचीत खत्म की

ई-कॉमर्स क्षेत्र की कंपनी स्नैपडील ने फ्लिपकार्ट के साथ अधिग्रहण को लेकर बीते पांच महीने से चल रही बातचीत खत्म कर दी है. बिजनेस स्टैंडर्ड ने इसे पहली खबर के रूप में जगह दी है. अखबार के मुताबित स्नैपडील ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि कंपनी पिछले कई महीनों से रणनीतिक विकल्प तलाश रही थी, लेकिन अब उसने स्वतंत्र राह अपनाने का फैसला किया है. इससे पहले स्नैपडील के संस्थापकों कुणाल बहल और रोहित बंसल के साथ-साथ शुरुआती निवेशक नेक्सस वेंचर पार्टनर, छोटे शेयरधारकों और प्रेमजी इन्वेस्ट ने फ्लिपकार्ट के साथ करार करने पर आपत्ति जताई थी.

बस्तर के पूर्व आईजी एसआरपी कल्लूरी के जेएनयू में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के आसार

छत्तीसगढ़ स्थित नक्सल प्रभावित बस्तर के पूर्व आईजी एसआरपी कल्लूरी जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं. द इकनॉमिक टाइम्स में प्रकाशित खबर के मुताबिक विश्वविद्यालय में एक सहायक प्रोफेसर बुद्धा सिंह ने इस बात की पुष्टि की है. उन्होंने कहा, ‘हम लोग उनके विश्वविद्यालय परिसर में सुरक्षित आगमन को लेकर उनके सुरक्षाकर्मियों के साथ संपर्क में हैं.’ इससे पहले नई दिल्ली स्थित भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) में एक विवादास्पद कार्यक्रम को कल्लूरी द्वारा संबोधित किए जाने को लेकर छात्रों के समूह द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया था. 1994 बैच के आईपीएस कल्लूरी पर फर्जी मुठभेड़ सहित तमाम सामाजिक कार्यकर्ताओं को निशाना बनाने का आरोप है.

आज का कार्टून

गुजरात में भाजपा द्वारा कांग्रेसी विधायकों को तोड़ने की कोशिशों पर द हिंदू में प्रकाशित आज का कार्टून :