केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के महात्वाकांक्षी गंगा पुनरुद्धार मंत्रालय में राज्य मंत्री रहे राजस्थान के सांसद सांवरलाल जाट का बुधवार सुबह निधन हो गया. वे 62 साल के थे. उनका बीते कुछ समय से एम्स (अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान) दिल्ली में इलाज चल रहा था.

द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक जाट के सहयोगी नवीन ने इस ख़बर की पुष्टि की है. इसी 22 जुलाई को जयपुर में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के एक कार्यक्रम के दौरान जाट बेहोश होकर गिर पड़े थे. इसके बाद उन्हें तुरंत पहले जयपुर के सवाई मानसिंह (एसएमएस) अस्पताल ले जाया गया था. इसके बाद एम्स दिल्ली के लिए रेफर कर दिया गया था. उसके बाद से उनकी स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई थी.

पिछले लोकसभा चुनाव में अजमेर लोकसभा सीट से कांग्रेस के कद्दावर नेता सचिन पायलट को मात देने वाले जाट मोदी सरकार में राज्य मंत्री की हैसियत से नौ नवंबर 2014 को शामिल किए गए थे. उन्हें गंगा पुनरुद्धार मंत्रालय के अलावा नदी विकास एवं जल संसाधन विभागों की भी ज़िम्मेदारी मिली थी. लेकिन ख़राब स्वास्थ्य के कारण पिछले साल पांच जुलाई को उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था.

हालांकि इसके बाद उन्हें राजस्थान किसान आयोग का अध्यक्ष बना दिया गया था. जाट इससे पहले 2003 से 2008 तक राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रहे. इसके अलावा राज्य की भैरों सिंह शेखावत सरकार में 1993 से 1998 तक स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री की हैसियत से भी उन्होंने ज़िम्मेदारी निभाई. वे 1990 से 2013 के बीच पांच बार राजस्थान विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए.