आंध्र प्रदेश और तेलंगाना की संयुक्त राजधानी हैदराबाद में तीन कश्मीरी छात्रों को ग़िरफ्तार किया गया है. इन तीनों पर आरोप है कि ये एक सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान बजने पर अपनी कुर्सियों से खड़े नहीं हुए.

द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इसी रविवार को तीनाें छात्रों को ज़मानत पर छोड़ भी दिया गया है. इससे पहले उन्हें रात भर हवालात में रखा गया. उनके ख़िलाफ साइबराबाद के राजेंद्र नगर पुलिस थाने में राष्ट्रीय प्रतीकों के सम्मान से जुड़े कानून की धाराओं के तहत केस दर्ज़ किया गया है. तीनों अल-हबीब इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र हैं. बताया जाता है कि तीनाें मंत्रा मॉल में स्थित एक सिनेमा हॉल में ‘बरेली की बर्फी’ फिल्म देखने गए थे.

हालांकि छात्रों ने पुलिस को दिए बयान में बताया है कि वे सिनेमा हॉल में देर से पहुंचे थे. तब तक वहां की बत्तियां बंद हो चुकी थीं. अंधेरे में अपनी कुर्सी ढूंढते हुए अभी वे बैठे ही थे कि तभी राष्ट्रगान शुरू हो गया. वे कुछ करते इससे पहले ही किसी ने उन्हें पीछे से टोका और खड़े होने के कहा. इसके तुरंत बाद वे खड़े हो भी गए. उनके मुताबिक राष्ट्रगान पूरा होने के बाद पीछे से किसी ने उनका नाम पूछा और यह भी कि वे कहां के रहने वाले हैं.

छात्रों के मुताबिक उसी व्यक्ति ने बाद में पुलिस को सूचना दे दी. उन्होंने आशंका ज़ताई कि नाम वग़ैरह पूछने वाला वह व्यक्ति पुलिस का अफसर हो सकता है. हालांकि राजेंद्र नगर पुलिस थाने के इंस्पेक्टर वी उमेंदर ने छात्रों के इस संदेह को सिरे से ख़ारिज़ किया है. उन्होंने बताया कि छात्रों के ख़िलाफ कई लोगों ने सिनेमा हॉल के प्रबंधक से शिकायत की थी. उन्होंने ही पुलिस में लिखित शिकायत दर्ज़ कराई जिस पर कार्रवाई की गई.