‘एनडीए को जैसी व्यवस्था मिली थी, अगर कोई ढीला-ढाला आदमी होता तो डर जाता.’

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह बात राजस्थान के उदयपुर में देश के सबसे बड़े हैंगिंग ब्रिज का उद्घाटन करने के बाद कही. पूर्ववर्ती सरकारों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सरकार के सामने पुरानी बुराइयों को खत्म करने की चुनौती है, जिसमें बहुत ताकत लगती है. नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, ‘हम जरा अलग मिट्टी के बने हैं, हमें चुनौतियों को चुनौती देने की आदत है. हमारा काम देश को आगे ले जाना है.’ परियोजनाओं को समय पर पूरा करने पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत ढांचागत परियोजनाओं में देरी सहन नहीं कर सकता.

‘यह 56 इंच के सीने का ही परिणाम है कि भारत ने बिना लड़े (चीन से) युद्ध जीत लिया.’

— केशव प्रसाद मौर्य, उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का यह बयान भूटान के डोकलाम से आपसी सहमति के आधार पर भारत और चीन की सेनाओं की वापसी को लेकर आया. उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में नमामि गंगे जागृति यात्रा में उन्होंने कहा, ‘आज वीर जवानों को गोली का जवाब गोला से देने की छूट अगर किसी ने दी है तो वे हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं.’ उपमुख्यमंत्री ने आगे कहा कि आज गंगा मैया की कृपा से गोमुख से गंगा सागर तक कमल खिला हुआ है. उनका यह भी कहना था कि भाजपा न केवल 2019 का आम चुनाव जीतेगी, बल्कि अगले 25 साल तक सत्ता में बनी रहेगी.


‘उत्तर प्रदेश में अगले पांच साल में 70 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा.’

— योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का यह बयान रोजगार सम्मेलन का उद्घाटन करने के बाद आया. उत्तर प्रदेश में पूंजी निवेश का माहौल उत्साहजनक बताते हुए उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने रोजगार को कृषि से जोड़ा है, जहां इसके लिए काफी संभावनाएं हैं. योगी आदित्यनाथ ने हर जिले के पारंपरिक उद्योग को बढ़ावा देने के लिए उसे ‘वन डिस्ट्रिक्ट-वन प्रोडक्ट’ योजना से जोड़ने की जरूरत बताई. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मुताबिक 40-50 साल पहले लोग रोजगार के लिए पश्चिम बंगाल और बिहार जाते थे, लेकिन वहां की यूनियनबाजी ने सब चौपट कर दिया. योगी आदित्यनाथ का कहना था कि उनकी सरकार ने औद्योगिक नीति में रोजगार बढ़ाने पर ध्यान दिया है और इसके लिए श्रम कानूनों को सरल बनाया है.


‘सीपीएम विपक्ष के किसी भी महागठबंधन में शामिल नहीं होगी.’

— सीताराम येचुरी, सीपीएम के महासचिव

सीपीएम नेता सीताराम येचुरी का यह बयान राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की ‘भाजपा भगाओ-देश बचाओं’ रैली से अलग रहने के सवाल पर आया. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी शरद यादव के ‘साझा विरासत बचाओ’ सम्मेलन से जुड़ी रहेगी लेकिन महागठबंधन की रैलियों में शामिल नहीं होगी. सीताराम येचुरी ने आगे कहा, ‘साझा विरासत बचाओ सम्मेलन को लेकर लोगों को भ्रमित नहीं होना चाहिए, क्योंकि इसका राजनीतिक गठबंधन से कोई लेना-देना नहीं है.’ उन्होंने यह भी कहा कि साझी विरासत को बचाना राजनीतिक गठबंधन से काफी बड़ा मुद्दा है.


‘उत्तर कोरिया को जवाब देने के सारे विकल्प खुले हैं.’

— डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिका के राष्ट्रपति

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का यह बयान उत्तर कोरिया द्वारा जापान के ऊपर से प्रशांत महासागर में मिसाइल दागे जाने पर आया. उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया का यह कदम पड़ोसियों, संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों और अंतरराष्ट्रीय व्यवहार के स्वीकृत न्यूनतम मानकों के अपमान का संकेत है. डोनाल्ड ट्रंप ने आगे कहा, ‘धमकी और अस्थिरता फैलाने वाली गतिविधियां उत्तर कोरिया का क्षेत्रीय और दुनिया के अन्य देशों के साथ अलगाव को ही बढ़ाएंगी.’ मंगलवार के मिसाइल परीक्षण के लिए दुनिया के दूसरे देशों ने भी उत्तर कोरिया की निंदा की है और उसके खिलाफ सख्त कदम उठाए जाने की जरूरत बताई है.