महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में तेज बारिश और इसकी वजह से सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त होने से जुड़ी खबरों को आज के सभी अखबारों ने पहले पन्ने पर तस्वीरों के साथ जगह दी है. बुधवार को शहर के सभी स्कूल-कॉलेजों को बंद कर दिया गया है. मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने लोगों से घरों में ही रहने की अपील की है. अंतिम जानकारी के मुताबिक भारी बारिश की वजह से अब तक छह लोगों की मौत हो चुकी है. साथ ही सरकार ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है. इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात हाई कोर्ट का वह आदेश रद्द कर दिया है जिसमें राज्य सरकार से 2002 के दंगों के दौरान तोड़े गए सभी धार्मिक स्थलों का पुनरुद्धार कराने को कहा गया था. यह खबर भी आज के अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है.

उत्तर प्रदेश : बीते दो दिनों में गोरखपुर स्थित बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 36 बच्चों की मौत

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर स्थित बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. बीते दो दिनों में अलग-अलग बीमारियों से अस्पताल में 36 बच्चों की मौत हुई है. इनमें 15 नवजात हैं. राजस्थान पत्रिका ने इस खबर को पहले पन्ने पर जगह दी है. अखबार के मुताबिक मृतकों में सात इंसेफेलाइटिस से पीड़ित थे. बताया जाता है कि इस साल बीआरडी कॉलेज में 724 बच्चे भर्ती हुए जिनमें 175 अपनी जान गंवा चुके हैं. उधर, इसी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत के मामले में एसटीएफ ने निलंबित प्रिसिंपल और उनकी पत्नी को कानपुर से गिरफ्तार किया है. इस मामले में यह पहली गिरफ्तारी है.

चुनावी ट्रस्टों ने अपने कुल चंदे का 96 फीसदी हिस्सा भाजपा को दिया

देश में स्थित चुनावी ट्रस्टों ने 2015-16 में कुल चंदे का 96 फीसदी हिस्सा देश की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा को दिया है. इसके बाद बाकी रकम कांग्रेस और जदयू के हिस्सेदारी में आई है. द टाइम्स ऑफ इंडिया में एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) के हवाले से छपी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि आयकर विभाग में रजिस्टर्ड 18 ट्रस्टों में से दो- सत्या इलेक्ट्रोरल ट्रस्ट और समाज इलेक्ट्रोरल ट्रस्ट को 2015-16 में कुल 49.52 करोड़ रु की आय हुई. इनमें सत्या की हिस्सेदारी 47 करोड़ रु की है. बताया जाता है कि दोनों ने 46 करोड़ रु भाजपा, दो करोड़ रु कांग्रेस और 1.5 करोड़ रु जदयू को दिए. बताया जाता है कि ट्रस्टों को अपनी कुल आय का कम से कम 95 फीसदी हिस्सा राजनीतिक पार्टियों के बीच चंदे के रूप में बांटना होता है.

‘मैरिटल रेप’ को दंडनीय अपराध बनाने से विवाह संस्था अस्थिर हो सकती है : केंद्र सरकार

केंद्र सरकार ने वैवाहिक दुष्कर्म (मैरिटल रेप) को दंडनीय अपराध बनाने से इनकार किया है. मंगलवार को केंद्र ने दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि इसकी वजह से विवाह संस्था अस्थिर हो सकती है. सरकार का यह भी कहना था कि इसका गलत इस्तेमाल पतियों को प्रताड़ित करने का आसान जरिया बन सकता है. हिन्दुस्तान ने इस खबर को मुख्य पृष्ठ पर जगह दी है. अखबार के मुताबिक हाईकोर्ट में दाखिल अपने हलफनामे में केंद्र का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट सहित कई हाईकोर्ट आईपीसी की धारा 498-ए (महिला को उसके पति और ससुराल वालों द्वारा प्रताड़ित करने) के बढ़ते दुरुपयोग पर टिप्पणी कर चुके हैं.

आईआईएम-अहमदाबाद ने एचआईवी पॉजिटिव लोगों के लिए मेट्रिमोनिअल वेबसाइट बनाई

गुजरात के अहमदाबाद स्थित भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम) ने एचआईवी पॉजिटिव लोगों के लिए एक बड़ी पहल की है. द हिंदू की एक रिपोर्ट के मुताबिक संस्थान ने इन लोगों को अपने जीवनसाथी खोजने और समाज के साथ घुलने-मिलने में मदद करने के लिए एक वैवाहिक (मेट्रिमोनिअल) वेबसाइट विकसित की है. बताया जाता है कि आईआईएम-ए स्थित सेंटर फॉर मैनेजमेंट ऑफ हैल्थ सर्विसेज ने एक एनजीओ की परियोजना के लिए इस पर काम किया.

आज का कार्टून :

मुंबई में भारी बारिश की वजह से जनजीवन अस्त-व्यस्त होने पर द एशियन एज में प्रकाशित आज का कार्टून :