मनी लॉन्डरिंग मामले में राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्डरिंग एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार के फॉर्म हाउस को अस्थायी तौर पर जब्त कर लिया है. यह फॉर्म हाउस दिल्ली के बिजवासन इलाके में है. ईडी के मुताबिक यह फॉर्म हाउस मेसर्स मिशेल पैकर्स एंड प्रिंटर्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर है, जिसे 2008-09 में मनी लॉन्डरिंग के 1.2 करोड़ रुपयों से खरीदा गया था.

इस मामले में आठ जुलाई को ईडी ने मीसा भारती, उनके पति और उनकी कंपनी मिशेल प्रिंटर्स ऐंड पैकर्स से संबंधित दिल्ली के तीन फार्महाउसों पर छापेमारी की थी. इसके बाद ईडी ने मीसा भारती और शैलेश कुमार से लंबी पूछताछ की थी. इससे पहले मई में ईडी ने लगभग 8,000 करोड़ रुपये के मनी लॉन्डरिंग घोटाले के सिलसिले में मीसा भारती के चार्टर्ड अकाउंटेंट राजेश कुमार को गिरफ्तार किया था. राजेश पर बेनामी खरीद में मीसा भारती की मदद करने का आरोप है.

ईडी, केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और आयकर विभाग के बाद तीसरी केंद्रीय एजेंसी है जो लालू प्रसाद यादव और उनके परिजनों से जुड़े मामलों की जांच कर रही है. इससे पहले जुलाई में सीबीआई ने लालू प्रसाद यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और बेटे तेजस्वी यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया था. यह मामला 2006 में रेलवे के होटलों के रखरखाव संबंधी ठेके में अनियमितता से जुड़ा है. इसके अलावा आयकर विभाग भी लालू प्रसाद यादव के परिवार के खिलाफ 1,000 करोड़ रुपये की बेनामी भूमि खरीद की जांच कर रहा है.