अगले पांच साल तक आईपीएल के मैचों का प्रसारण अधिकार अब स्टार इंडिया के पास रहेगा | सोमवार, 04 सितम्बर 2017

अगले पांच साल तक आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) के मैचों का प्रसारण अधिकार अब स्टार इंडिया के पास रहेगा. आईपीएल के प्रसारण अधिकारों की सोमवार को मुंबई में नीलामी की गई. इस प्रक्रिया में स्टार इंडिया ने 16,347.5 करोड़ रुपए की सबसे बड़ी बोली लगाकर ये अधिकार अपने नाम कर लिए.

इंडिया टुडे के मुताबिक 2018 से 2022 तक के लिए आईपीएल के प्रसारण अधिकार ख़रीदने की होड़ में स्टार इंडिया सहित कुल 24 कंपनियां शामिल थीं. इनमें फेसबुक, अमेजन, ट्विटर, याहू, रिलायंस जियो, सोनी पिक्चर्स, डिस्कवरी, स्काई, ब्रिटिश टेलीकॉम और ईएसपीएन डिजिटल मीडिया जैसी दिग्गज कंपनियां शुमार थीं. इन प्रतिस्पर्धियों को देखते हुए बीसीसीआई के सीईओ (मुख्य कार्यकारी अधिकारी) राहुल जौहरी ने कहा था कि इस बार आईपीएल के प्रसारण अधिकारों की बिक्री से बोर्ड को ‘ऐतिहासिक तौर पर’ राजस्व की प्राप्ति हो सकती है.

चर्चित पत्रकार गौरी लंकेश की घर में गोली मारकर हत्या | मंगलवार, 05 सितम्बर 2017

कर्नाटक की चर्चित पत्रकार गौरी लंकेश की मंगलवार रात गोली मारकर हत्या कर दी गई. खबरों के मुताबिक कुछ हमलावर उनके बेंगलुरू स्थित घर में पहुंचे और उन्हें गोली मारकर भाग गए. पुलिस के मुताबिक उन पर सात गोलियां दागी गईं जिनमें से दो उनके सीने पर और एक सिर पर लगी.

गौरी लंकेश की हत्या पर राजनीति से लेकर पत्रकारिता तक हर हलके में रोष का माहौल है. कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा है कि वे इस घटना से स्तब्ध हैं. अपने ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘मेरे पास इस जघन्य अपराध की निंदा के लिए शब्द नहीं हैं.’ सिद्धारमैया ने यह भी कहा कि कर्नाटक ने एक मजबूत प्रगतिशील आवाज खो दी है और उन्होंने अपना एक मित्र. कर्नाटक कांग्रेस के मुखिया जी परमेश्वर ने कहा है कि दोषी जल्द ही कानून के शिकंजे में होंगे.

आदित्य सचदेवा हत्याकांड : रॉकी समेत तीन को उम्रक़ैद | बुधवार, 06 सितम्बर 2017

बिहार के चर्चित आदित्य सचदेवा हत्याकांड मामले में गया जिले की अदालत ने दोषी रॉकी यादव को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई है. कोर्ट ने पिछले हफ़्ते रॉकी समेत दो अन्य आरोपितों को दोषी ठहराया था. बाक़ी दोनों दोषियों को भी आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई है. कोर्ट ने रॉकी के पिता बिंदी यादव को पांच साल क़ैद की सज़ा सुनाई है.

अपने फैसले में अतिरिक्त ज़िला व सत्र न्यायाधीश सच्चिदानंद सिंह ने राकेश कुमार रंजन उर्फ़ रॉकी, उसके पिता बिंदी यादव, चचेरे भाई तेनी यादव और उसकी मां के अंगरक्षक राजेश कुमार को आईपीसी की कई धाराओं के तहत दोषी पाया था. न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक़ आदित्य के परिवार ने अदालत के फ़ैसले पर संतुष्टि ज़ाहिर की है.

अदालत ने रॉकी को आईपीसी की धारा 302 (हत्या), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाने), 427 (नुक़सान पहुंचाने) और आर्म्स ऐक्ट की धारा 27 के तहत दोषी ठहराया. दो अन्य दोषियों तेनी यादव और राजेश कुमार को भी इन्हीं धाराओं के तहत सज़ा सुनाई गई है. वहीं रॉकी के पिता बिंदी यादव को धारा 212 (मुजरिम को पनाह देने) और 177 (ग़लत जानकारी देने) के तहत दोषी मानते हुए सज़ा सुनाई गई.

मुंबई बम धमाके : अबू सलेम को उम्र कैद, ताहिर मर्चेंट और फिरोज खान को मौत की सजा| गुरुवार, 07 सितम्बर 2017

मुंबई स्थित विशेष टाडा अदालत ने 1993 के सिलसिलेवार बम धमाकों के मामले में गैंग्स्टर अबू सलेम और चार अन्य दोषियों की सजा का ऐलान कर दिया है. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक टाडा अदालत ने अबू सलेम और करीमुल्लाह खान को उम्र कैद जबकि ताहिर मर्चेंट और फिरोज अब्दुल राशिद खान को मौत की सजा सुनाई है. इसके अलावा रियाज सिद्दीकी को 10 साल की सजा सुनाई गई है.

जून में आतंकवाद और विध्वंसक गतिविधि रोकथाम अधिनियम (टाडा) के तहत गठित विशेष अदालत ने इस मामले में अबू सलेम के साथ पांच अन्य लोगों को दोषी ठहराया था. अबू सलेम और मुस्तफा दौसा को आपराधिक साजिश रचने जबकि फिरोज अब्दुल राशिद खान, करीमुल्लाह खान और ताहिर मर्चेंट को इस साजिश में साथ देने के लिए दोषी ठहराया था. अदालत ने रियाज सिद्दीकी को आपराधिक साजिश के आरोप से बरी किया था, लेकिन अन्य आरोपों में दोषी ठहराया था. इसके अलावा अब्दुल कय्यूम को बरी कर दिया गया था. इन सभी दोषियों को 2003 से 2010 के बीच पकड़ा गया था. अबू सलेम को 2005 में पुर्तगाल से प्रत्यर्पण कर भारत लाया गया था इसलिए उसे मौत की सजा नहीं दी जा सकती.

अब हवाई यात्रा के दौरान अपना बर्ताव ठीक न रखने वालों पर आजीवन प्रतिबंध लग सकता है | शुक्रवार, 08 सितम्बर 2017

हवाई यात्रा के दौरान सुरक्षा और नियम-संबंधी व्यवहार को ध्यान में रखते हुए नागरिक उड्डयन मंत्रालय (सीएएम) ने हवाई यात्रा को लेकर ‘नो-फ़्लाई लिस्ट’ जारी की है. मंत्रालय की ओर से उठाया गया यह अपनी तरह का पहला क़दम है. न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक़ शुक्रवार को एक जॉइंट प्रेस कॉन्फ़्रेंस में नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू ने कहा कि ये कदम विमान में बाधा पहुंचाने वाले व्यवहार को नियंत्रित करने के लिए उठाए गए हैं.

नियमों का उल्लेख करते हुए नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि इस नो-फ़्लाई लिस्ट का उद्देश्य यात्रियों का बचाव और सुरक्षा सुनिश्चित करना है. उन्होंने कहा कि सरकार ने नो-फ़्लाई जैसी प्रक्रिया लागू करके सुरक्षा को प्रमुखता दी है. उन्होंने कहा, ‘सुरक्षा को लेकर दुनिया में नो-फ़्लाई लिस्ट जैसा कोई नियामक नहीं है.’

डेरा मुख्यालय की तलाशी में राम रहीम की ‘गुफा’ से साध्वियों के कमरों तक जाने का रास्ता मिला | शनिवार, 09 सितम्बर 2017

हरियाणा के सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के मुख्यालय में जारी तलाशी अभियान के दूसरे दिन भी कई आपत्तिजनक चीजें सामने आई हैं. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक शनिवार को तलाशी के दौरान डेरा में मौजूद गुरमीत राम रहीम के आवास से साध्वियों के कमरों की ओर जाने वाला एक रास्ता मिला है. डेरा में गुरमीत के इस आवास को ‘गुफा’ कहा जाता था और साध्वियों के कमरों को ‘साध्वी निवास.’ हरियाणा सरकार के जनसंपर्क अधिकारी सतीश मेहरा ने बताया कि इस रास्ते की बनावट खिड़की जैसी है. इसके अलावा यहां से एके-47 की मैग्जीन रखने वाला एक डिब्बा भी मिला है.

दूसरे दिन की तलाशी के दौरान यहां विस्फोटक बनाने वाली एक अवैध फैक्ट्री का भी पता चला है. जांच दल ने इसमें मिले विस्फोटकों और पटाखों को जब्त कर लिया है. जनसंपर्क अधिकारी सतीश मेहरा के मुताबिक शनिवार को डेरा से कुछ बच्चों को भी मुक्त कराया गया है. इनमें से एक बच्चा बच्चा उत्तर प्रदेश का, जबकि बाकी बच्चे हरियाणा के कैथल के रहने वाले हैं. फिलहाल इन्हें जिला बाल संरक्षण अधिकारी को सौंप दिया गया है.