भारतीय जनता पार्टी ने जाने-माने इतिहासकार रामचंद्र गुहा को लीगल नोटिस भेजकर अपने बयान के लिए माफी मांगने को कहा है. सत्याग्रह की सहयोगी वेबसाइट स्क्रोलडॉटइन को दिए एक इंटरव्यू में रामचंद्र गुहा चर्चित पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या में संघ परिवार का हाथ होने की संभावना जताई थी. भाजपा ने कहा है कि अगर उन्होंने तीन दिन के भीतर बिना शर्त माफी नहीं मांगी तो उनके खिलाफ दीवानी और फौजदारी के तहत अदालती कार्रवाई की जाएगी.

गौरी लंकेश की बीते हफ्ते बेंगलुरू में उनके घर पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस घटना को लेकर संघ परिवार पर निशाना साधा जा रहा है. इस मसले पर रामचंद्र गुहा का कहना था कि ‘बहुत संभावना है कि उनके हत्यारे उसी संघ परिवार से हों जहां से दाभोलकर, पंसारे और कलबुर्गी के हत्यारे आए.’ कट्टरपंथ, कुरीतियों और अंधविश्वास के खिलाफ मुखर रहे इन सामाजिक कार्यकर्ताओं की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

अपने लीगल नोटिस में भाजपा ने कहा है कि इनमें से कोई भी केस अभी तक हल नहीं हुआ है. नोटिस में यह भी कहा गया है कि ‘हमारे मुवक्किल के संगठन के बारे में जानबूझकर दिए गए, गलत और नपे-तुले आपके बयान से इसके लाखों सदस्यों और इससे सहानुभूति रखने वाले लोगों में काफी रोष है.’