स्वामी विवेकानंद के ऐतिहासिक शिकागो भाषण की 125वीं वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन से जुड़ी खबरों को आज लगभग सभी अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. अपने संबोधन में उन्होंने स्वच्छता पर विशेष जोर दिया. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘क्या पान खाकर भारत माता पर पिचकारी मारने के बाद हमें वंदे मातरम् कहने का हक है?’ उन्होंने आगे कहा कि लोग सफाई करें या न करें, लेकिन उन्हें गंदगी फैलाने का कोई हक नहीं है. इसके अलावा रोहिंग्या संकट पर संयुक्त राष्ट्र (यूएन) द्वारा भारत और म्यामांर के रुख की आलोचना करने की खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. यूएन मानवाधिकार उच्चायोग के प्रमुख जैद राद अल-हुसैन ने कहा, ‘भारत सामूहिक तौर पर इन्हें नहीं निकाल सकता या ऐसी जगह पर नहीं भेज सकता, जहां इनके लिए उत्पीड़न या हिंसा का खतरा मौजूद है.’

गौरी लंकेश की हत्या के तार कलबुर्गी, पंसारे और दाभोलकर हत्याकांड से जुड़ने के आसार

कर्नाटक स्थित पत्रकार गौरी लंकेश हत्या मामले की शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि इस वारदात के तार 2015 में एमएम कलबुर्गी हत्या मामले से जुड़े हो सकते हैं. द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक यह बात इस हत्याकांड की जांच में शामिल एक अधिकारी ने कही है. हालांकि अधिकारी ने साफ किया कि अभी जांच जारी है और फोरेंसिक सहित अन्य रिपोर्टें आनी बाकी हैं. इसके अलावा पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने भी कहा है कि उन्हें गौरी लंकेश और एमएम कलबुर्गी की हत्या के तार महाराष्ट्र में गोविंद पंसारे और नरेंद्र दाभोलकर हत्याकांड से जुड़े हुए लगते हैं. कट्टरपंथ और कुरीतियों के खिलाफ आवाज उठाने वाले पंसारे और कलबुर्गी भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

मुसलमान महिलाएं तीन तलाक पर शरीयत को ही मानें : पर्सनल लॉ बोर्ड

ऑल इंडिया मुस्लिन पर्सनल लॉ बोर्ड ने मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कहा है कि मुसलमान महिलाएं तीन तलाक पर शरीयत को ही मानें. अमर उजाला ने इस खबर को पहले पन्ने पर जगह दी है. अखबार के मुताबिक बोर्ड इस बारे में महिलाओं को जागरूक करने के लिए देशभर में अभियान चलाएगा. साथ ही उसने एक हेल्पलाइन नंबर 18001028426 जारी किया है. इस पर महिलाओं को शरीयत की जानकारी दी जाएगी. बोर्ड का मानना है कि देश का संविधान सभी को धार्मिक स्वतंत्रता देता है, इसलिए सरकार इसमें दखल नहीं दे सकती.

सात सांसदों और 98 विधायकों की मौजूदा संपत्ति उनकी आय से अधिक : सीबीडीटी

देश में सात सांसदों और 98 विधायकों की मौजूदा संपत्ति उनकी आय से अधिक है. यह जानकारी सोमवार को केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने सुप्रीम कोर्ट को दी. राजस्थान पत्रिका ने इस खबर को मुख्य पृष्ठ पर जगह दी है. बताया जाता है कि बोर्ड मंगलवार को इन सब जनप्रतिनिधियों के नाम बंद लिफाफे में शीर्ष अदालत को सौंपेगा. इसके साथ ही सीबीडीटी ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि दो चुनावों के बीच लोकसभा के 26, राज्यसभा के 11 और राज्यों के 257 विधायकों की संपत्ति में बढ़ोतरी हुई है. शीर्ष अदालत एक जनहित याचिका के आधार पर सांसदों-विधायकों की संपत्ति में बेतहाशा बढ़ोतरी के मामले में सुनवाई कर रही है.

दिल्ली : 30 फीसदी ड्राइवरों को दूर और आधे ड्राइवरों को नजदीक की चीजें देखने में परेशानी, 42 फीसदी को कलर ब्लाइंडनेस की समस्या

सड़क दुर्घटनाओं के मामले में संवेदनशील दिल्ली के 10 में से तीन ड्राइवरों को दूर की चीजें साफ-साफ दिखाई नहीं देतीं. साथ ही आधे ड्राइवरों को नजदीक की चीजें देखने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. ये बातें द टाइम्स ऑफ इंडिया ने दिल्ली स्थित सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीच्यूट (सीआरआरआई) की एक रिपोर्ट के आधार पर कही हैं. संस्था ने 627 निजी कार, टैक्सी, ट्रक और बस ड्राइवरों पर एक अध्ययन किया था. इसमें पता चला कि इनमें से 42 फीसदी को कलर ब्लाइंडनेस की समस्या है. इसके अलावा 29 फीसदी ने माना कि वे 10 घंटे से अधिक ड्राइविंग करते हैं, जो कानून का उल्लंघन है.

आज का कार्टून

जीएसटी पर द हिंदू में प्रकाशित आज का कार्टून :