उत्तर कोरिया ने नए प्रतिबंध लगाने वाले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र प्रायोजित निशस्त्रीकरण सम्मेलन में उत्तर कोरिया के राजदूत हान तेई सांग ने नए प्रतिबंधों को गलत और गैरकानूनी बताया. उत्तर कोरिया के हालिया परमाणु परीक्षण को लेकर सोमवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने ज्यादा सख्त प्रतिबंधों वाले नए प्रस्ताव को आम राय से मंजूरी दे दी है. इसमें उत्तर कोरिया के वस्त्र निर्यात पर पाबंदी लगाने के अलावा कच्चे तेल की आयात सीमा तय करने जैसे कदम शामिल हैं.

वहीं उत्तर कोरिया के राजदूत हान तेई सांग ने अमेरिका पर राजनीति, आर्थिक और सैन्य टकराव के लिए उकसाने का भी आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि अमेरिका, उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को रोकने के लिए हिंसक खेल में शामिल है. हान तेई सांग ने आगे कहा, ‘उत्तर कोरिया अंतिम उपायों को इस्तेमाल करने के लिए तैयार है.’ हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट किया कि इसके तहत उत्तर कोरिया क्या कदम उठाएगा.फिर भी इसके साथ हान तेई सांग ने यह जरूर कहा, ‘उत्तर कोरिया के आगामी कदमों से अमेरिका को असहनीय तकलीफ से गुजरना पड़ेगा जिसका उसने इतिहास में कभी अनुभव नहीं किया होगा.’

उधर, जिनेवा में मौजूद अमेरिका के निशस्त्रीकरण राजदूत रॉबर्ट वुड ने सुरक्षा परिषद के नए प्रस्ताव को अंतरराष्ट्रीय समुदाय का उत्तर कोरिया को संदेश बताया. उन्होंने आगे कहा कि इसके जरिए दुनिया ने उत्तर कोरिया को उसकी उकसावे वाली गतिविधियों को अब और बर्दाश्त न करने का संदेश दिया है. रॉबर्ड वुड ने उम्मीद जताई कि उत्तर कोरिया इसे मानेगा और मौजूदा रास्ते से अलग रास्ता चुनेगा. अमेरिकी राजदूत ने सभी देशों से उत्तर कोरिया के खिलाफ नए और पुराने प्रतिबंधों को लागू करने की भी अपील की.