दिल्ली में सात दिन के भीतर दूसरी राजधानी एक्सप्रेस के बेपटरी होने की घटना हुई है. गुरुवार सुबह करीब 6.00 बजे जम्मू तवी-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस का एक कोच पटरी से उतर गया. अच्छी बात ये रही कि इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ.

द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक उत्तर रेलवे के प्रवक्ता ने इस घटना की पुष्टि की है. उनके अनुसार घटना तब हुई जब ट्रेन प्लेटफॉर्म में दाख़िल हो रही थी. ग़ौरतलब है कि इससे पहले सात सितंबर को रांची से दिल्ली आई राजधानी एक्सप्रेस का इंजन और जनरेटर कोच पटरी से उतर गया था. यह घटना मिंटो ब्रिज पर हुई थी. उसी दिन हावड़ा से जबलपुर जा रही शक्तिपुंज एक्सप्रेस के सात डिब्बे भी उत्तर प्रदेश में सोनभद्र जिले के ओबरा डैम स्टेशन के पास बेपटरी हो गए थे. जबकि चेन्नई में एक इंजन और महाराष्ट्र के खंडाला में मालगाड़ी के दो डिब्बों ने भी पटरी छोड़ दी थी.

वैसे देखा जाए तो ट्रेनों के बेपटरी होने की घटनाएं एक महीने से लगातार सामने आ रही हैं. सबसे पहले 19 अगस्त को उत्तर प्रदेश के खतौली स्टेशन के पास कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस पटरी से उतरी थी. इस हादसे में 22 लोगों की जान चली गई. फिर 23 अगस्त को उत्तर प्रदेश में ही औरैया के पास आजमगढ़-दिल्ली कैफियत एक्सप्रेस के नौ डिब्बे पटरी से उतर गए थे. इस हादसे में 70 लोग घायल हो गए. दो दिन बाद 25 अगस्त को मुंबई में हार्बर लाइन की सीएसटी-अंधेरी लोकल ट्रेन के चार डिब्बे से पटरी से उतर गए. इस दुर्घटना में पांच लोग घायल हुए. इसके चार दिन बाद 29 अगस्त को महाराष्ट्र के आसगांव के नज़दीक नागपुर-मुंबई दूरंतो एक्सप्रेस के सात डिब्बे पटरी से उतर गए थे.