‘अगर अनुच्छेद-35ए पर हमला हो रहा है तो इसकी वजह नेशनल कॉन्फ्रेंस का सत्ता में न होना है.’

— उमर अब्दुल्ला, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री

पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला का यह बयान जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्ज से जुड़े संविधान के अनुच्छेद-35ए को खत्म करने की मांग पर आया. उन्होंने कहा, ‘अगर नेशनल कॉन्फ्रेंस सत्ता में होती तो अनुच्छेद-35ए पर बात करने का मौका ही न देती.’ अपरोक्ष रूप से भाजपा पर निशाना साधते हुए उमर अब्दुल्ला ने कहा, ‘हमारा अपने (जम्मू-कश्मीर के) संविधान की शपथ लेना उन्हें पसंद नहीं है.’ उनका यह भी कहना था कि वर्ष 2000 में नेशनल कॉन्फ्रेंस ने कश्मीर की स्वायत्तता के लिए प्रस्ताव पारित किया था, जिसके बाद उसे कमजोर करने के लिए पीडीपी को खड़ा कर दिया गया. उमर अब्दुल्ला ने पीडीपी पर जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खतरे में डालने का भी आरोप लगाया.

बुलेट ट्रेन बेरोजगारी दूर नहीं कर सकती.

— अखिलेश यादव, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यह बात बुलेट ट्रेन से रोजगार बढ़ने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दावे को लेकर कही. उन्होंने कहा कि बुलेट ट्रेन दिल्ली और कोलकाता के बीच चलायी जानी चाहिए जहां सबसे ज्यादा आबादी रहती है. अखिलेश यादव ने आगे कहा कि भाजपा के लोग पहले उन पर सैफई और इटावा से सारी योजनाएं शुरू करने का आरोप लगाते थे, लेकिन वे लोग अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चुनाव को ध्यान में रखकर गुजरात में बुलेट ट्रेन का शिलान्यास करने पर ऐसी बात नहीं कर रहे. वंशवाद पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का बचाव करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि वंशवाद तो अमेरिका में भी है, एक ही परिवार से लोग राष्ट्रपति बनते रहे हैं. सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का यह भी कहना था कि कांग्रेस के साथ दोस्ती जारी रहेगी.


‘डीयू छात्र संघ के चुनाव में एनएसयूआई की जीत 2019 के आम चुनाव का संकेत है.’

— मणिशंकर अय्यर, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

मणिशंकर अय्यर का यह बयान पार्टी के छात्र संगठन नेशनल स्टूडेंट् यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) की दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) में छात्र संघ चुनाव में जीत पर आया. उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार को अब समझ लेना चाहिए कि जनता और गुमराह नहीं होने वाली है.’ मणिशंकर अय्यर ने आगे कहा, ‘जनता ने मोदी सरकार को खारिज कर दिया है. हमें (कांग्रेस) कोई डर नहीं है, क्योंकि देश की युवा पीढ़ी हमारे साथ है.’ एनएसयूआई ने डीयू छात्र संघ में अध्यक्ष पद पर चार साल से काबिज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को हराकर अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर जीत हासिल की है.


‘युवराज सिंह और सुरेश रैना की भारतीय टीम में वापसी के दरवाजे बंद नहीं हुए हैं.’

— रवि शास्त्री, भारतीय क्रिकेट टीम के कोच

कोच रवि शास्त्री का यह बयान टीम में खिलाड़ियों के चयन की शर्तो की चर्चा करते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ियों को मौजूदा प्रदर्शन, फिटनेस और फील्डिंग के आधार पर चुना जाता है.’ रवि शास्त्री ने आगे कहा कि वे चयन समिति का हिस्सा नहीं हैं, लेकिन इन्हीं मानकों पर खरा उतरने वाले खिलाड़ियों को चुना जाता है. उन्होंने यह भी कहा कि 2019 के विश्व कप को ध्यान में रखकर श्रीलंका में सभी खिलाड़ियों को मौका देने की कोशिश की जा रही है. रवि शास्त्री के मुताबिक इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के साथ द्विपक्षीय सीरीज भी विश्व कप टीम के लिए खिलाड़ियों की पहचान करने के लिए अच्छा मौका होगी.


‘पाकिस्तान, अमेरिका के साथ अपने रिश्ते का पुनर्मूल्यांकन कर रहा है.’

— खुर्रम दस्तगीर खान, पाकिस्तान के रक्षा मंत्री

पाकिस्तानी रक्षा मंत्री खुर्रम दस्तगीर खान ने यह बात भारत, अमेरिका और अफगानिस्तान के बीच गठजोड़ का आरोप लगाते हुए कही. उन्होंने कहा, ‘अमेरिका सारी बातें जानता है लेकिन रणनीतिक हितों के कारण पाकिस्तान के खतरों को नजरअंदाज कर रहा है.’ खुर्रम दस्तगीर खान ने कहा कि भारत से पाकिस्तान के खतरों को अमेरिका नजरअंदाज नहीं कर सकता, यह मुद्दा उसके साथ अगली बैठक में उठाया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका लगातार अपने लक्ष्य बदलता रहता है जिससे निपटना पाकिस्तान के लिए एक बड़ी चुनौती है. पाकिस्तान के रक्षा मंत्री के मुताबिक पाकिस्तान के लिए अमेरिका को संतुष्ट कर पाना असंभव है.