अमेरिका के कंसास में एक भारतीय डॉक्टर की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई. उनका नाम अच्युत रेड्‌डी बताया गया है. वे तेलंगाना के रहने वाले थे. इस मामले में रेड्‌डी के एक मरीज को संदेह के आधार पर ग़िरफ्तार किया गया है.

अमेरिकी मीडिया के हवाले से द फाइनेंशियल एक्सप्रेस ने बताया है कि 57 वर्षीय डॉक्टर रेड्‌डी की हत्या के पीछे हेट क्राइम (किसी नफरत के कारण किया गया अपराध) की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता. समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक जिस व्यक्ति को ग़िरफ्तार किया गया है उसका नाम उमर राशिद दत्त है. उसकी उम्र 21 साल है. ग़ौरतलब है कि कंसास में इस साल किसी भारतीय की हत्या का यह दूसरा मामला सामने आया है. इससे पहले फरवरी में तेलंगाना के ही श्रीनिवास कूचीभोटला की भी यहां गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

स्थानीय पुलिस लेफ्टिनेंट टॉड ओजाइल ने गुरुवार को मीडिया को बताया कि बुधवार शाम को सात बजे डॉक्टर रेड्‌डी पर पहला हमला उनके मनोचिकित्सा क्लीनिक में हुआ. उनके क्लीनिक मैनेजर ने जैसे ही यह देखा तो उसने हमलावर को पकड़ने की कोशिश की. इससे डॉक्टर रेड्‌डी को वहां से भाग निकलने का मौका मिल गया. वे क्लीनिक के पीछे वाले दरवाजे से निकलकर भागे भी लेकिन हमलावर ने उस गली में पीछा कर उन पर फिर हमला कर दिया. आपातकालीन चिकित्सा इकाई जब तक मौके पर मदद के लिए पहुंचती तब तक उनकी मौत हो चुकी थी.

पुलिस के मुताबिक उनके शरीर पर धारदार हथियार से वार किए जाने के कई निशान पाए गए हैं. बताया जाता है कि डॉक्टर रेड्‌डी ने कुछ समय पहले ही अपने मरीजों के इलाज की प्रक्रिया में योग को भी शामिल किया था. इस पर कई मरीज़ों और उनके सहयोगी डॉक्टरों ने असंतोष ज़ताया था. पुलिस सूत्रों की मानें तो इस घटना के पीछे यह भी एक कारण हो सकता है. फिलहाल मामले की जांच की जा रही है.

#UPDATE | Client arrested in Dr. Achutha Reddy murder case in Kansas City, United States pic.twitter.com/3ELEbXwrHr

— TIMES NOW (@TimesNow) September 15, 2017