आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने लंदन की एक भूमिगत ट्रेन में हुए धमाके की ज़िम्मेदारी ली है. शुक्रवार को हुए इस हमले में 29 लोग ज़ख़्मी हो गए थे. घटना के बाद ब्रिटेन की सरकार ने सुरक्षा के इंतज़ाम और कड़े करने के आदेश दिए हैं. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक़ इस साल ब्रिटेन में पांच आतंकी हमले हो चुके हैं.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक आईएस ने अपनी प्रॉपगेंडा एजेंसी अमक़ के ज़रिए कहा कि उसी ने लंदन की मेट्रो में धमाका कराया है. ट्रेन सुबह 8.20 बजे भूमिगत पार्सन्स मेट्रो स्टेशन से गुज़र रही थी, तभी उसमें धमाका हुआ. धमाका होते ही ट्रेन में से आग की लपटें निकलने लगीं जिससे यात्रियों में भगदड़ मच गई. कई यात्री धमाके में झुलस गए, जबकि कुछ भगदड़ में घायल हो गए. हालांकि किसी की मौत नहीं हुई.

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बम ‘बाल्टी’ के आकार की एक चीज़ में रखा हुआ था. ख़बरों के मुताबिक़ जांचकर्ता मौक़े से मिले एक सर्किट बोर्ड की जांच कर रहे हैं. एक संदिग्ध की भी तलाश की जा रही है जिसे ब्रिटिश मीडिया में ‘बकेट बॉम्बर’ बताया जा रहा है.

घटना के बाद ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने एक आपातकालीन मीटिंग की. हमले को ‘कायराना’ बताते हुए उन्होंने कहा कि देश के लिए ख़तरा बढ़ गया है. टीवी पर दिए बयान में उन्होंने कहा कि सार्वजनिक जगहों पर हथियारबंद पुलिस और सेना के जवानों को तैनात किया जाएगा. साथ ही, कुछ जगहों पर सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मियों की जगह सेना के जवानों को लगाया जाएगा.