रायन इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी कक्षा के एक छात्र प्रद्युम्न की हत्या के मामले में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने स्कूल को कारण बताओ नोटिस जारी करने का फ़ैसला किया है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक नोटिस में बोर्ड ने स्कूल से सफ़ाई मांगी है कि क्यों ना बोर्ड से उसकी संबद्धता रद्द कर दी जाए. शनिवार शाम तक स्कूल प्रशासन को नोटिस भेज दिया जाएगा. इससे पहले हरियाणा सरकार ने प्रद्युम्न की हत्या की सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं. प्रद्युम्न के परिवार ने सीबीआई जांच की मांग की थी.

इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि मामले की जांच करने वाली दो सदस्यीय कमिटी की रिपोर्ट के आधार पर सीबीएसई ने स्कूल को नोटिस जारी करने का फ़ैसला किया है. अख़बार के मुताबिक़ कमिटी की रिपोर्ट में बताया गया है कि बच्चों की सुरक्षा को लेकर स्कूल प्रशासन ने लापरवाही बरती है.

उधर, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शुक्रवार को पीड़ित परिवार से मुलाक़ात की. मामला सीबीआई को सौंपने को लेकर उन्होंने कहा, ‘यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. मैं परिवार से मिलने आया था. परिवार और अन्य लोगों की मांग थी कि मामला सीबीआई को दे दिया जाए.’ खट्टर ने आगे कहा, ‘हरियाणा पुलिस इस मामले की जांच सही तरीक़े से कर रही है. इसके बावजूद और मांग को देखते हुए केस सीबीआई को दिया जा रहा है. मैं सीबीआई से अपील करता हूं कि जितना जल्दी हो सके मामले की जांच शुरू करे.’

वहीं, एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ प्रद्युम्न के पिता वरुण ने अपने बेटे की हत्या के पीछे साज़िश और इसमें एक से ज्यादा लोगों के शामिल होने की बात कही है. उनका कहना है, ‘हत्यारे के पास पहले से ही चाकू था. वह बच्चों के बाथरूम में था, जहां उसे नहीं होना चाहिए. फिर हत्या के बाद उसने चाकू वहीं छोड़ दिया. बाथरूम की खिड़की की ग्रिल कटी पाई गई है. आरोपित कंडक्टर अशोक के बदलते बयानों में विरोधाभास है. ये सारी चीजें साजिश की तरफ इशारा करती हैं.’