‘वॉट्सएप और फेसबुक के संदेशों पर जांचे-परखे बगैर भरोसा नहीं करना चाहिए.’  

— राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री

केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह का यह बयान सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की नई सतर्कता विंग की शुरुआत के मौके पर आया. एसएसबी के जवानों को फर्जी खबरों से सतर्क करते हुए उन्होंने कहा कि राष्ट्रविरोधी तत्व समाज में परेशानी पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं, ऐसे किसी संदेश को आगे भेजने को लेकर सतर्क रहना चाहिए. राजनाथ सिंह ने नेपाल और भूटान के साथ खुली सीमाओं की मुस्तैदी से सुरक्षा करने के लिए एसएसबी की सराहना की. केंद्रीय गृहमंत्री का कहना था कि खुली सीमाओं पर दोस्त और दुश्मन के बारे में कुछ पता नहीं होता, जिसके चलते सुरक्षाबलों को ज्यादा सतर्क रहना पड़ता है.

‘समझ की कमी के चलते कुछ समूह नोटबंदी की सफलता को केवल बैंकों में जमा पैसों से आंकते हैं.’

— अरुण जेटली, केंद्रीय वित्त मंत्री

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का यह बयान नोटबंदी के बाद 99 फीसदी पुराने अमान्य नोटों की बैंकों में वापसी के आधार पर इसे विफल बताने पर आया. उन्होंने कहा कि नोटबंदी की सफलता के आकलन के लिए नगदी के इस्तेमाल में कमी, कर आधार और डिजिटल लेन-देन में इजाफा जैसे तीन आधार हैं. अरुण जेटली ने आगे कहा कि इन्हीं तीनों आधार पर नोटबंदी की सफलता का आकलन होगा जिनमें मध्यम और लंबी अवधि में सकारात्मक प्रगति ही रहेगी. वित्त मंत्री का कहना था कि शुरू में लोगों ने सुविधा नहीं, बल्कि दबाव में डिजिटल लेन-देन अपनाया था, जिसमें बढ़ोतरी के बाद गिरावट आ गई, जिसे अब दोबारा बढ़ा लिया जाएगा.


‘महंगाई में अप्रत्याशित बढ़ोतरी और किसानों के अनसुलझे मुद्दों के लिए शिवसेना जिम्मेदार नहीं है.’

— संजय राउत, शिव सेना सांसद

सांसद संजय राउत का यह बयान महंगाई और किसानों की समस्या के लिए भाजपा को जिम्मेदार बताते हुए आया. भाजपा के साथ गठबंधन तोड़ने का संकेत देते हुए उन्होंने कहा, ‘हम सरकार में रहेंगे या बाहर जाएंगे, इस बारे में जल्द फैसला कर लिया जाएगा.’ केंद्रीय पर्यटन मंत्री अल्फोंस कन्ननथनम पर निशाना साधते हुए संजय राउत ने कहा कि उनका बयान गरीबों और मध्यम वर्ग का अपमान है. बीते हफ्ते पेट्रोल और डीजल की कीमत बढ़ने के सवाल पर अल्फोंस कन्ननथनम ने कहा था कि कार और बाइक रखने वाले लोग पेट्रोल खरीदते है और ये लोग भूखे नहीं रहते इसलिए बढ़ी कीमत चुका सकते हैं.


पाकिस्तान सीमा को अगले साल दिसंबर तक स्मार्ट फेंस से बंद कर दिया जाएगा.’

— किरण रिजीजू, केंद्रीय गृहराज्य मंत्री

केंद्रीय मंत्री किरण रिजीजू का यह बयान सीमा पर उच्च तकनीक युक्त तारबंदी करने में आने वाली समस्याओं को लेकर आया. उन्होंने कहा कि सीमा प्रबंधन में एक से ज्यादा सरकारी एजेंसियों की भागीदारी से नीतियों को लागू करने और तकनीक को अपनाने में देरी होती है. किरण रिजीजू ने आगे कहा कि अगर कहीं पर फुल बॉडी स्कैनर लगाना है तो उसकी खरीद प्रक्रिया और अन्य औपचारिकताओं में काफी समय चला जाता है, जिसे तत्काल दूर करने की जरूरत है. समुद्री सीमा को सुरक्षित बनाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार समुद्री पुलिस को मजबूत करने का प्रयास कर रही है.


‘संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग को अपना एक कार्यालय फिलीपींस में खोलना चाहिए.’

— रोड्रिगो दुतेर्ते, फिलीपींस के राष्ट्रपति

फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते का यह बयान नशे खिलाफ कार्रवाई को मानवाधिकार हनन के आरोपों से मुक्त बनाने के उपायों पर आया. उन्होंने कहा, ‘मैं अधिकारियों से कहूंगा कि वे संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग के प्रतिनिधियों के बगैर कोई कार्रवाई ही न करें.’ रोड्रिगो दुतेर्ते ने आगे कहा कि वे सभी पुलिस अधिकारियों को कैमरा पहनने के लिए भी कहेंगे, ताकि ड्रग तस्करों के खिलाफ कार्रवाई को पारदर्शी बनाया जा सके. रोड्रिगो दुतेर्ते का यह बयान संयुक्त राष्ट्र और मानवाधिकार हनन की शिकायतों को लेकर उनके पुराने रुख में बदलाव के तौर पर देखा जा रहा है.