भारतीय मूल के जगमीत सिंह को कनाडा की न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी (एनडीपी) का नेता चुना गया है. वे पार्टी का नेतृत्व कर रहे थॉमस मुलकेयर की जगह लेंगे. उनकी कामयाबी पर प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने उन्हें बधाई दी. एनडीटीवी की ख़बर के मुताबिक़ 38 साल के जगमीत सिंह को अपने तीनों प्रतियोगियों के मुक़ाबले 54 प्रतिशत वोट मिले. हालांकि जगमीत सिंह रोज़ होने वाले प्रश्नकाल में पीएम ट्रूडो से सवाल नहीं कर पाएंगे क्योंकि वे ओटावा स्थित संघीय संसद के नहीं बल्कि ओन्टेरियो की प्रांतीय संसद के सदस्य हैं.

जस्टिन ट्रूडो की लिबरल्स ऐंड द कंज़रवेटिव पार्टी के बाद एनडीपी कनाडा की तीसरी सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक़ जगमीत 2019 में कनाडा के आम चुनाव में एनडीपी का नेतृत्व करेंगे. पार्टी का नेता चुने जाने के बाद उन्होंने एनडीपी के लोगों को धन्यवाद कहा. एक ट्वीट में जगमीत ने कहा कि वे कनाडा के प्रधानमंत्री बनने के लिए अपने चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘कनाडा के लोगों को डर के ख़िलाफ़ साहस, और बांटने के बजाय प्यार की राजनीति करने के लिए खड़ा होना चाहिए.’ जगमीत के इस भाषण को रविवार को हुई संदिग्ध आतंकी घटना से जोड़ कर देखा जा रहा है. एडमॉनटन में हुई इस घटना में एक संदिग्ध ने एक पुलिस अधिकारी को चाकू मार दिया था और राहगीरों को ट्रक से कुचल दिया था.

जगमीत सिंह पेशे से क्रिमिनल लॉयर हैं. उनका जन्म ओन्टेरियो के स्कॉबरा में एक पंजाबी परिवार में हुआ. जगमीत ने वेस्टर्न ओन्टेरियो यूनिवर्सिटी से विज्ञान की डिग्री ली है. उन्होंने ऑसगुडे हॉल लॉ स्कूल से क़ानून की भी पढ़ाई की है. 2005 में उन्होंने यहां से क़ानून की डिग्री प्राप्त की. वे अक्सर रंगीन पगड़ी पहनते हैं और आमतौर पर कृपाण रखते हैं. कनाडा में कुछ जगहों पर तलवार या चाकू ले जाना मना है. लेकिन जगमीत कहते हैं कि उनकी पगड़ी और कृपाण उनकी पहचान बन गए हैं.