पद से हटाए जाने के कयासों के बीच बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर गिरीश चंद्र त्रिपाठी अनिश्चितकालीन छुट्टी पर चले गए हैं. खबरों के मुताबिक इसके लिए उन्होंने निजी कारणों का हवाला दिया है. हालांकि बीते गुरुवार को ही उन्होंने कहा था कि अगर मानव संसाधन मंत्रालय उन्हें छुट्टी पर जाने के लिए कहेगा तो वे इस्तीफा दे देंगे.

गिरीश चंद्र त्रिपाठी का महज दो महीने का ही कार्यकाल बचा है. अब यह भी साफ हो गया है कि उन्हें दोबारा वीसी नहीं बनाया जाएगा क्योंकि बीएचयू ने अपनी वेबसाइट पर नए कुलपति के लिए विज्ञापन भी जारी कर दिया है. एक छात्रा के साथ छेड़छाड़ के बाद सुरक्षा की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहीं बीएचयू की छात्राओं पर पुलिस लाठीचार्ज के बाद से ही त्रिपाठी की काफी आलोचना हो रही है. इस मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन सहित उत्तर प्रदेश सरकार की भी काफी किरकिरी हुई थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने भी इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की थी.