‘राहुल गांधी को गुजरात का विकास देखने के लिए इटली का नहीं, बल्कि गुजराती चश्मा पहनना होगा.’

— अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का यह बयान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज करते हुए आया. गुजरात गौरव यात्रा के दौरान सोमवार को उन्होंने कहा कि अगर राहुल गांधी को गुजरात के विकास के सपने आते हैं तो उसे पूरा करने के लिए पोरबंदर आना चाहिए, न कि इटली जाना चाहिए. अमित शाह ने आगे कहा, ‘राहुल गांधी अक्सर पूछते हैं कि बीते तीन साल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या किया, लेकिन मैं पूछना चाहता हूं कि यूपीए सरकार ने 10 साल में क्या किया था?’ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का यह भी कहना था कि उनकी पार्टी गुजरात को कर्फ्यू मुक्त और 24 घंटे बिजली देने वाला प्रदेश बनाने पर गर्व महसूस करती है.

‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकपाल कानून लागू करने के लिए कुछ नहीं किया.’

— अन्ना हजारे, सामाजिक कार्यकर्ता

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे का यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भारत को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए कोई ठोस प्रयास न करने का आरोप लगाते हुए आया. प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में उन्होंने कहा कि भारत को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के बजाय लोकतंत्र को कमजोर करने और भाजपा को मजबूत करने के उपाय हुए हैं. उन्होंने किसान आत्महत्या, फसलों की वाजिब कीमत और काला धन जैसे मुद्दों पर भी सरकार पर निशाना साधा. अन्ना हजारे ने आगे कहा कि उनकी टीम नए साल के आसपास एक और भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन शुरू करने की तैयारी कर रही है. इसके साथ उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि नए आंदोलन में नेताओं को मंच पर जगह नहीं मिलेगी, वे चाहें तो जनता के बीच बैठ सकते हैं.


‘प्रधानमंत्री मोदी मुझसे बड़े अभिनेता हैं, मैं अपने पुरस्कार उन्हें देना चाहता हूं.’

— प्रकाश राज, अभिनेता

अभिनेता प्रकाश राज का यह बयान पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या पर जश्न मनाने वाले प्रशंसकों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर आया. उन्होंने कहा, ‘हम गौरी लंकेश के हत्यारों को नहीं देख सकते, लेकिन उन्हें देख सकते हैं जो क्रूरता से भरे हैं. इनमें वे लोग शामिल हैं, जिन्हें खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (टविटर पर) फॉलो करते हैं.’ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ पर तंज करते हुए प्रकाश राज ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश में भ्रम हो जाता है कि मुख्यमंत्री है या मंदिर का पुजारी.’ प्रकाश राज ने आगे कहा कि अभिनेता होने के नाते वे बखूबी बता सकते हैं कि कौन नेता कब सच बोल रहा है और कब नाटक कर रहा है.


‘दलित युवकों को सेना में शामिल होना चाहिए और देसी शराब की जगह रम पीना चाहिए.’

— रामदास अठावले, केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले का यह बयान तीनों सेनाओं में दलितों के लिए आरक्षण की मांग करते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘दलित एक लड़ाका समुदाय है और देश के लिए बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने के लिए तैयार है.’ रामदास अठावले ने आगे कहा, ‘दलित युवकों को यह नहीं सोचना चाहिए कि जो सेना में जाते हैं, वे सभी लोग शहीद हो जाते हैं, उससे ज्यादा लोग तो सड़क हादसे और दिल का दौरा पड़ने से मारे जाते हैं.’ दलितों के लिए सेना में आरक्षण पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण से बात करने का वादा करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वे ज्यादा से ज्यादा दलित युवकों को सेना में देखना चाहते हैं.


‘अगर विकल्प मिले तो गिलगित के लोग पाकिस्तान का नहीं, भारत का चुनाव करेंगे.’

— अब्दुल हामिद खान, बलावरिस्तान नेशनल फ्रेंट के अध्यक्ष

अब्दुल हामिद खान का यह बयान पाकिस्तान पर गिलगित-बाल्टिस्तान में नागरिक अधिकारों के हनन का आरोप लगाते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘आजादी के 69 साल बाद भी गिलगित-बाल्टिस्तान के लोग पाकिस्तानी आधिपत्य का शिकार हैं. हम लोग 72 हजार वर्ग किमी की जेल में कैद हो गए हैं.’ बेल्जियम में निर्वासित जीवन जी रहे अब्दुल हामिद खान ने कहा कि अगर पाकिस्तान भारत से संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव की बात करता है तो पहले उसे खुद इसे मानना चाहिए और गिलगित-बाल्टिस्तान से अपनी सेना हटा लेनी चाहिए. बलावरिस्तान नेशनल फ्रेंट के अध्यक्ष ने गिलगित-बाल्टिस्तान के निवासियों को चीन-पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरीडोर (सीपीईसी) का पहला शिकार बताया है.