गुजरात : मूंछ रखने की वजह से एक और दलित पर हमला

गुजरात में मूंछ रखने पर दलितों पर हमले जारी हैं. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ मंगलवार को गांधीनगर के एक गांव में एक और दलित युवक पर कथित रूप से ऊंची जाति लोगों ने चाकू से हमला कर दिया. युवक की उम्र 17 साल है. वह परीक्षा देकर स्कूल से वापस आ रहा था, तभी उस पर हमला किया गया. युवक ने अख़बार को बताया कि उस पर 25 सितंबर को भी हमला किया गया था. उस दिन वह पीयूष परमार के साथ था जिस पर मूंछ रखने के चलते ही हमला किए जाने का आरोप है. (विस्तार से)

हनीप्रीत इंसान को अदालत ने छह दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम की गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत इंसान को हरियाणा पुलिस ने बुधवार को पंचकुला अदालत में पेश किया. अदालत ने उन्हें छह दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा दिया है. हरियाणा पुलिस ने मंगलवार को उन्हें पंजाब के पटियाला से गिरफ्तार किया था. हनीप्रीत इंसान अगस्त में गुरमीत राम रहीम के जेल जाने के बाद से फरार थीं. बीते हफ्ते उन्होंने अग्रिम जमानत के लिए दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, लेकिन अदालत ने उनकी याचिका खारिज कर दी थी. (विस्तार से)

केरल सरकार राज्य में जिहादी आतंकवाद के माहौल को बढ़ावा दे रही है : आदित्यनाथ

केरल में अपने कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में निकाली गई भाजपा की जन रक्षा यात्रा के दूसरे दिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ भी शामिल हुए. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार बुधवार को कन्नूर जिले में उन्होंने राज्य की सीपीआई (एम) सरकार पर जमकर निशाना साधा. मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि मुख्यमंत्री पी विजयन के शासन में राज्य में न केवल राजनीतिक हिंसा बढ़ी है, बल्कि जिहादी आतंकवाद का माहौल भी मजबूत हो रहा है. . (विस्तार से)

लास वेगस में गोलीबारी वाला दिन ट्विटर पर अब तक का सबसे उदास दिन रहा है

अमेरिका के लास वेगस में गोलीबारी की घटना वाला दिन ट्विटर पर अब तक के सबसे उदास दिन के रूप में दर्ज हो गया है. सोशल मीडिया पर लोगों के भावनात्मक उतार-चढ़ाव का आकलन करने वाले उपकरण हेडोनोमीटर के अनुसार सोमवार को ट्विटर पर प्रसन्नता का औसत स्तर 5.77 दर्ज किया गया जो अब तक का न्यूनतम स्तर है. लास वेगस में एक संगीत कार्यक्रम के दौरान लोगों पर अंधाधुंध गोलीबारी में 59 लोग मारे गए थे और 500 से ज्यादा लोग घायल हो गये थे. इसे आधुनिक अमेरिका की सबसे घातक गोलीबारी बताया जा रहा है. (विस्तार से)

देश में पहली बार हो रहे अंडर-17 फुटबॉल विश्वकप में मणिपुर के आठ खिलाड़ियों पर सबकी निगाह होगी

देश में पहली मर्तबा फुटबॉल का विश्वकप टूर्नामेंट हो रहा है. फिर भले वह अंडर-17 वाला ही क्यों न हो. लेकिन देश के पूर्व और पूर्वोत्तर के इलाकों में ख़ास तौर पर जहां फुटबॉल की दीवानगी अलग ही होती है उनके लिए तो यह एक महाआयोजन है. और तिस पर अगर विश्वकप में खेल रही भारतीय टीम में आठ खिलाड़ी उसी तरफ के किसी एक ही क्षेत्र या राज्य से हों तो फिर कहना ही क्या. ऐसे में ये मानना ही चाहिए कि देश के बाकी हिस्सों के साथ उस क्षेत्रख़ास के खेलप्रेमियों की निगाहें उन खिलाड़ियों पर विशेष रूप से रहेंगी जो एक ही राज्य से ताल्लुक रखते हैं. यहां बात मणिपुर के आठ खिलाड़ियों की हो रही है जो 21 सदस्यीय भारतीय टीम का हिस्सा हैं. (विस्तार से)

रोहिंग्याओं की बांग्लादेश और पाकिस्तान से आ रहे शरणार्थियों से तुलना नहीं हो सकती : केंद्र

मोदी सरकार का कहना है कि रोहिंग्या मुसलमानों की बांग्लादेश और पाकिस्तान छोड़कर भारत आ रहे लोगों से तुलना नहीं हो सकती. गृह मंत्रालय ने रोहिंग्या मुसलमानों को वापस म्यांमार भेजने के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई एक याचिका पर अपने जवाब में यह बात कही है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक़ सरकार का कहना है कि रोहिंग्याओं को वापस भेजने का फ़ैसला कार्यपालिका ने कई पहलुओं को ध्यान में रखते हुए लिया है. इनमें आंतरिक सुरक्षा को संभावित खतरा, अवैध शरणार्थियों की संख्या और सामाजिक ताने-बाने पर पड़ रहा बुरा असर शामिल हैं. (विस्तार से)

क्या दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उपराज्यपाल से फिर टकराव मोल लेने के मूड में हैं?

लगता है दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उपराज्यपाल अनिल बैजल से फिर टकराव मोल लेने की तैयारी कर रहे हैं. इस बार मसला क़रीब 15,000 संविदा शिक्षकों के नियमितीकरण से जुड़ा है. केजरीवाल सरकार इसके लिए जो प्रक्रिया अपना रही है उस पर उपराज्यपाल बैजल ने आपत्ति ज़ताई है. ख़बर के मुताबिक केजरीवाल सरकार ने संविदा शिक्षकों के नियमितीकरण से संबंधित विधेयक को सितंबर में मंज़ूरी दी थी. अब इसे कानून की शक्ल देने के लिए बुधवार को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया गया है. लेकिन इसके एक दिन पहले ही उपराज्यपाल ने इस विधेयक पर आपत्ति ज़ता दी है. (विस्तार से)

स्मार्टफोन से जुड़ी एक तकनीक अब एचआईवी के इलाज में भी क्रांतिकारी बदलाव लाने जा रही है!

ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने एचआईवी संक्रमण का पता लगाने की दिशा में एक बड़ी सफलता पाई है. इन वैज्ञानिकों ने स्मार्टफोन पर आधारित एक ऐसी अनोखी तकनीक विकसित की है जिससे मात्र 10 सेकेंड में ही एचआईवी संक्रमण की पुष्टि की जा सकती है. शोधकर्ताओं का दावा है कि उनकी यह तकनीक एचआईवी संक्रमण का पता लगाने के मामले में सबसे तेज काम करती है. इस तकनीक को विकसित करने के लिए ब्रिटेन के सर्रे विश्वविद्यालय में लंबे अरसे से एक शोध चल रहा था. इसमें ब्रिटेन के अलावा नीदरलैंड, जापान और दक्षिण अफ्रीका के वैज्ञानिक शामिल थे. (विस्तार से)

कुछ लोगों को निराशा फैलाने में बड़ा मजा आता है : नरेंद्र मोदी

अर्थव्यवस्था में मंदी की खबरों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार की नीतियों की आलोचना करने वालों पर निशाना साधा है. बुधवार को दिल्ली में एक आयोजन में प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों को निराशा फैलाने में बड़ा मजा आता है. उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों का अर्थव्यवस्था में विकास होता नहीं दिख रहा. (विस्तार से)

क्रायो-इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोपी का अविष्कार करने वाले वैज्ञानिकों को रसायन का नोबेल

साल 2017 के लिए रसायन विज्ञान (केमिस्ट्री) के नोबेल पुरस्कार का ऐलान हो गया है. बुधवार को रसायन के नोबेल पुरस्कार की चयन समिति ने क्रायो-इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोपी के अविष्कारकर्ता वैज्ञानिकों जाक डुबोशे, योआखिम फ्रैंक और रिचर्ड हेंडरसन के नामों की घोषणा की. इन वैज्ञानिकों की खोज के चलते जीवन की जटिल रचनाओं की ज्यादा विस्तृत तस्वीरें हासिल कर पाना संभव हुआ है. इस पुरस्कार के तहत इन तीनों वैज्ञानिकों को लगभग 11 लाख डॉलर दिए जाएंगे. (विस्तार से)

क्यों मध्य भारत में बाढ़ से होने वाली तबाही आगे और भी आम बात हो सकती है

हाल में देश के कई राज्यों में हुई बारिश ने लाखों लोगों के जीवन को प्रभावित किया था. महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, बिहार और असम में मानसून की भारी बारिश ने ऐसा क़हर ढाया कि लाखों लोगों को अपना घरबार छोड़कर राहत शिविरों में कई दिन गुज़ारने पड़े. अब एक ख़बर आई है जिसके मुताबिक़ अनियमित बारिश से होने वाली तबाही और लोगों के विस्थापन जैसी घटनाएं आगे ‘सामान्य’ हो जाएंगी. एक अध्ययन में वैज्ञानिकों ने पाया कि मध्य भारत में होने वाली अनियमित बारिश में तीन गुना बढ़ोतरी हुई है और आशंका है कि भविष्य में इस तरह की अनिश्चित बारिश में और वृद्धि हो सकती है.’ (विस्तार से)