बीएमसी (बृहन्मुंबई महानगरपालिका) के अमले ने गुरुवार को बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख़ खान के स्टूडियो में बनी अवैध कैंटीन तोड़ दी. शाहरुख़ खान का रेड चिली प्रोडक्शन हाउस मुंबई के मलाड (पश्चिम) इलाके में स्थित है.

बीएमसी के अधिकारियों के मुताबिक खान ने स्टूडियो में अपने दफ्तर से लगते एक खुले छज्जे को को कवर कर दिया था. इसे कैंटीन की इस्तेमाल में लिया जा रहा था. जबकि उनके पास इसकी इजाज़त नहीं थी. बीएमसी की सहायक आयुक्त और वॉर्ड ऑफिसर चंदा जाधव ने बताया, ‘छज्जे को खुले रखे जाने का प्रावधान था. लेकिन उन्होंने (खान और उनके सहयोगी) इसमें बदलाव कर इसका इस्तेमाल करना शुरू कर दिया. उन्होंने छज्जे को कवर कर दिया जोनियमों और सुरक्षा कायदों का उल्लंघन था. इसीलिए यह कार्रवाई की गई है.’

ग़ौरतलब है कि रेड चिली एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड के मालिक शाहरुख़ और उनकी पत्नी गौरी हैं. उन्होंने मलाड के सुंदर नगर इलाके में स्थित 16 मंज़िला डीएलएच पार्क बिल्डिंग का पूरा चौथा माला खरीद रखा है. यहां उनके स्टूडियो के पोस्ट प्रोडक्शन का काम होता है. उनके इस दफ्तर में क़रीब 316 कर्मचारी काम करते हैं. ख़बर के मुताबिक इस माले में ही क़रीब 2,000 वर्ग फीट का छज्जा खान ने ढंक रखा था जहां कैंटीन चल रही थी.

हालांकि रेड चिली के प्रवक्ता के मुताबिक, ‘जहां कार्रवाई हुई वह कैंटीन नहीं थी. बल्कि वहां बैठकर रेड चिली वीएफएक्स के कर्मचारी घर से लाया हुआ खाना खाते थे. और रेड चिली वीएफएक्स भी इस संपत्ति की मालिक नहीं है. उसने यह जगह किराए पर ले रखी है. बीएससी ने किसी ग़लतफ़हमी की वज़ह से यह कार्रवाई की है. वह भी उस जगह जहां सौर ऊर्जा पैनल लगे थे. यहां से पूरे वीएफएक्स डिवीजन को वैकल्पिक ऊर्जा की आपूर्ति हो रही थी. लिहाज़ा अब रेड चिली वीएफएक्स इस मामले को संबंधित अधिकारियों के सामने उठाने जा रही है.’