‘महात्मा गांधी की हत्या की दोबारा जांच का मकसद कपूर आयोग की रिपोर्ट को रद्द कराना है.’

— तुषार गांधी, महात्मा गांधी के प्रपौत्र

तुषार गांधी का यह बयान सुप्रीम कोर्ट में दाखिल महात्मा गांधी की हत्या की दोबारा जांच की मांग करने वाली याचिका पर आया. उन्होंने कहा, ‘कपूर आयोग की रिपोर्ट में इस साजिश और इसमें शामिल लोगों के बारे में कई असुविधाजनक खुलासे दर्ज हैं, जिन पर कभी मुकदमा ही नहीं चलाया गया.’ मुंबई के शोधकर्ता और अभिनव भारत के ट्रस्टी पंकज फडनीस ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में यह याचिका लगाई है. इसमें उन्होंने महात्मा गांधी की हत्या में एक से ज्यादा लोगों के शामिल होने का दावा किया है और इसी आधार पर दोबारा जांच की मांग की है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में वरिष्ठ अधिवक्ता अमरेंद्र शरण को न्यायमित्र नियुक्त किया है. मामले की अगली सुनवाई 30 अक्टूबर को होगी.

‘2019 के आम चुनाव में रोजगार बड़ा मुद्दा होगा.’

— यशवंत सिन्हा, भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री

भाजपा नेता यशवंत सिन्हा का यह बयान अगले आम चुनाव तक बेरोजगारी के घर-घर की समस्या बन जाने का अनुमान जताते हुए आया. भाजपा द्वारा 2019 के आम चुनाव में ध्रुवीकरण के लिए राम मंदिर और समान नागरिक संहिता जैसे मुद्दों उछालने की संभावना पर उन्होंने कहा कि इस बारे में अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी, लेकिन ध्रुवीकरण का हमेशा कारगर होना जरूरी नहीं है. अर्थव्यवस्था पर अपनी चिंताओं को सही बताते हुए यशवंत सिन्हा ने कहा कि उन्हें अर्थव्यवस्था के तनावग्रस्त क्षेत्रों में सुधार का कोई संकेत नहीं दिखाई दिया है. सरकार द्वारा बेटे जयंत सिन्हा को आगे करने पर पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि यह एक गंभीर बहस को बाप-बेटे का झगड़ा बनाकर उसे कमजोर कर देने की कोशिश थी लेकिन यह सफल नहीं हुई है.


‘केंद्र की भाजपा सरकार ने दूरदर्शन और आकाशवाणी को हिज मोदी वॉयस में बदल दिया है.’

— मायावती, बसपा प्रमुख

बसपा प्रमुख मायावती ने यह बयान मोदी सरकार पर दूरदर्शन और आकाशवाणी के महत्व को खत्म करने का आरोप लगाते हुए आया. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार अप्रत्यक्ष नियंत्रण के जरिए निजी मीडिया की आजादी को भी सीमित करने की कोशिश कर रही है. उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने आगे कहा कि स्वतंत्र लेखकों और पत्रकारों को निशाना बनाया जा रहा है, सभी जानते हैं कि इसके पीछे कौन लोग हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर टिप्पणी के लिए अभिनेता प्रकाश राज के खिलाफ दर्ज कराने सहित ऐसे अन्य मामलों को तानाशाही प्रवृत्ति बताया. बसपा प्रमुख का कहना था कि यह घातक सोच देश के लोकतंत्र के लिए खतरा है.


‘सार्वजनिक बैंकों की संख्या को 10-15 तक सीमित किया जाएगा.’

— संजीव सान्याल, वित्त मंत्रालय के प्रधान आर्थिक सलाहकार

प्रधान आर्थिक सलाहकार संजीव सान्याल का यह बयान बैंकिंग क्षेत्र में सुधारों को लेकर आया. इंडिया इकनॉमिक समिट में शुक्रवार को उन्होंने इस आशंका को भी खारिज किया कि सरकार बैंकों की संख्या को चार-पांच बड़े राष्ट्रीय बैंकों तक सीमित करना चाहती है. संजीव सान्याल ने कहा कि बैंकों का एकीकरण लंबे समय की कारोबारी, जबकि सार्वजनिक बैंकों को दोबारा पूंजी देना उनको चलाने की तात्कालिक जरूरत है. उनके मुताबिक बुरे कर्ज से जूझ रहे बैंकों को आपस में मिलाकर एक बड़ा सक्षम बैंक नहीं बनाया जा सकता है, इसलिए बुरे कर्ज से निपटना सरकार की पहली प्राथमिकता है.


‘म्यांमार से रोहिंग्या मुसलमानों का पलायन अभी रुका नहीं है.’

— मार्क लोकॉक, संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के मानवीय मामलों के अवर महासचिव

यूएन के अवर महासचिव मार्क लोकॉक का यह बयान म्यांमार के रखाइन राज्य में रोहिंग्या मुसलमानों की स्थिति को असंतोषजनक बताते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘लगभग पांच लाख से ज्यादा लोग यूं ही अपना घर छोड़कर नहीं भाग लेते हैं.’ मार्क लोकॉक ने आगे कहा कि म्यांमार में अभी जो लोग मौजूद हैं, वे भी आगे पलायन कर सकते हैं, जिसके लिए संस्थाओं को तैयार रहना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि म्यांमार को उत्तरी रखाइन में वैश्विक संस्थाओं को जाने की छूट देनी चाहिए. अंतरराष्ट्रीय शरणार्थी संगठन के मुताबिक म्यांमार से अभी भी रोजाना 2,000 रोहिंग्या शरणार्थी बांग्लादेश आ रहे हैं. म्यांमार में 25 अगस्त को हिंसा भड़कने के बाद से 5.15 लाख से ज्यादा शरणार्थी बांग्लादेश पहुंच चुके हैं.