डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम की कथित बेटी हनीप्रीत इंसान से जुड़ा एक और ख़ुलासा हुआ है. इससे उनकी मुश्किलें बढ़ना तय माना जा रहा है. द टाइम्स ऑफ इंडिया ने पुलिस सूत्रों के हवाले से बताया है कि हनीप्रीत ने डेरा सच्चा सौदा की पंचकुला शाखा के प्रमुख चमकौर सिंह को सवा करोड़ रुपए भिजवाए थे. वह भी ठीक उस वक़्त जब 25 अगस्त को डेरा की साध्वियों के साथ बलात्कार के मामले में राम रहीम के ख़िलाफ अदालत फैसला सुनाने वाली थी.

अख़बार के मुताबिक पूछताछ के दौरान राम रहीम के ड्राइवर एवं निजी सहायक राकेश कुमार ने पुलिस को यह जानकारी दी है. इस ख़ुलासे के बाद पुलिस का संदेह पुख़्ता होता नज़र आ रहा है कि इस पैसे का इस्तेमाल हिंसा भड़काने के लिए किया गया है. अदालत द्वारा राम रहीम को सजा सुनाए जाते ही पंचकुला और हरियाणा के कुछ अन्य इलाकों में हिंसा भड़क उठी थी. हालात नियंत्रित करने के लिए पुलिस को गोलियां चलानी पड़ी थीं. इसमें 36 डेरा समर्थकों की मौत हो गई थी. इसी की जांच के सिलसिले में पुलिस ने राकेश को 27 सितंबर को ग़िरफ्तार किया था.

ख़बर के अनुसार राम रहीम के ख़िलाफ फैसले वाले दिन राकेश उनके साथ था. इसके अगले दिन यानी 26 अगस्त को वह हनीप्रीत को लेकर रोहतक से सिरसा भी गया था. पूछताछ के दौरान यह भी पता चला है कि बीती तीन अक्टूबर को हनीप्रीत के साथ ग़िरफ्तार की गई सुखदीप कौर और उसका पति इक़बाल सिंह डेरा कोर ग्रुप के सदस्य हैं. सुखदीप ड्राइविंग के साथ हथियार चलाने में भी माहिर है. इस बीच हरियाणा पुलिस ने डेरा के कंप्यूटर की हार्ड डिस्क से डिलीट किया गया डेटा भी हासिल कर लिया है. इससे कई और अहम जानकारियां सामने की उम्मीद की जा रही है.