उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में एक महिला के साथ सामूहिक बलात्कार किए जाने की घटना सामने आई है. ख़बरों के मुताबिक बदमाशों ने पीड़ित महिला के दो साल के बच्चे के गले पर चाकू रखकर उसे मारने की धमकी दी. फिर पति के सामने ही उसकी पत्नी से बलात्कार किया और भाग गए.

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक घटना शुक्रवार की है. पुलिस से मिली जानकारी के हवाले से अख़बार ने बताया है कि पीड़ित महिला बच्चे और पति के साथ मोटरसाइकिल से बसेरा गांव से आ रही थी. तभी रास्ते में उन लोगों को कार में सवार बदमाशों से नीरगंज गांव के पास रोक लिया. उन लोगों ने बताया कि गंगा नहर पुल के पास का मुख्य रास्ता ठीक नहीं है. वे दूसरे छोटे रास्ते से अपने गंतव्य की ओर जा सकते हैं. उनकी बात मानकर महिला के पति ने जैसे छोटे रास्ते का रुख़ किया बदमाशों ने पीछे से आकर उन पर हमला कर दिया.

पुलिस के अनुसार बदमाश उन तीनों को जबरन पास ही गन्ने के खेत में ले गए. वहां पति की ज़बर्दस्त पिटाई की. बच्चे के गले पर चाकू रख दिया और उसे जान से मारने की धमकी दी. इससे असहाय हुई महिला ने उनके सामने आत्मसमर्पण कर दिया. इसके बाद उन सभी ने उसके साथ बलात्कार किया और बेखटके भाग निकले. कुछ देर बाद नज़दीक के खेत में आए एक किसान से उस महिला ने मदद की गुहार लगाई तब कहीं जाकर पुलिस तक सूचना पहुंची.

मुजफ्फरनगर के पुलिस अधीक्षक अजय सहदेव के मुताबिक अब तक आरोपितों की पहचान नहीं हो पाई है. पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज़ कर जांच शुरू कर दी है. आरोपितों की तलाश ज़ारी है. महिला और उसके पति का मेडिकल परीक्षण भी कराया गया है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव तिवारी ने ख़ुद मौके पर पहुंचकर जल्द से जल्द आरोपितों को पकड़ने के निर्देश दिए हैं.