जाने-माने हिंदी फ़िल्म निर्देशक कुंदन शाह का निधन हो गया है. 69 साल के कुंदन शाह को दिल का दौरा पड़ा था. शुक्रवार रात को उन्होंने अपने मुंबई स्थित घर में अंतिम सांस ली. कुंदन शाह को ‘जाने भी दो यारो’ जैसी यादगार फ़िल्म के लिए जाना जाता है. भ्रष्ट सिस्टम पर बनी इस व्यंग्यात्मक फ़िल्म के लिए उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार भी दिया गया था.

‘जाने भी दो यारो’ के निर्देशन में कुंदन शाह ने नसीरुद्दीन शाह, ओम पुरी, पंकज कपूर, रवि बासवानी, सतीश कौशिक, सतीश साह, नीना गुप्ता जैसे मंझे हुए कलाकारों के साथ काम किया. उन्हें बॉलीवुड के सबसे समझदार निर्देशकों में गिना जाता था. 1994 में उन्होंने शाहरुख़ ख़ान को लेकर ‘कभी हां कभी ना’ बनाई. यह शाहरुख़ के करियर की सबसे यादगार भूमिकाओं वाली फ़िल्मों से एक रही जिसमें उन्होंने एक ‘हारे हुए इंसान’ का रोल किया था. 2014 में आई ‘पी से पीएम’ उनकी आख़िरी फ़िल्म थी जिसमें एक यौनकर्मी प्रधानमंत्री बन जाती है.

कुंदन शाह को उनके यादगार टीवी धारावाहिकों के लिए भी जाना जाता है. 80 के दशक में दूरदर्शन पर प्रसारित हिंदी धारावाहिक ‘नुक्कड़’ में उन्होंने बतौर सह-निर्देशक काम किया. इसके अलावा कार्टूनिस्ट आरके लक्ष्मण द्वारा रचित किरदारों पर बना हास्य धारावाहिक ‘वागले की दुनिया’ का भी उन्होंने निर्देशन किया. कुंदन शाह ने पुणे स्थित फ़िल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंडिया (एफ़टीआईआई) से फ़िल्म निर्देशन की पढ़ाई की थी. उनके निधन पर कई बॉलीवुड हस्तियों ने शोक जताया है. इनमें सुभाष घई, करन जौहर, महेश भट्ट जैसे बड़े फ़िल्म निर्देशक शामिल हैं.