उत्तर प्रदेश के अयोध्या में सरयू नदी के तट पर भगवान राम की एक विशालकाय प्रतिमा स्थापित की जाने वाली है. प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने यह योजना बनाई है. इस पर अमल भी शुरू हो चुका है.

द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक प्रदेश के पर्यटन विभाग ने इस योजना के बाबत राज्यपाल राम नाइक के सामने भी एक प्रजेंटेशन दिया है. बताया जाता है कि अयोध्या में धार्मिक पर्यटन को प्रोत्साहित करने की सरकार की महात्वाकांक्षी योजना ‘नव्य अयोध्या’ के तहत भगवान राम की प्रतिमा स्थापित किए जाने का कार्यक्रम है. इस प्रतिमा की ऊंचाई अभी तय नहीं है. लेकिन कुछ अफसर बताते हैं कि ऊंचाई 100 फीट भी हो सकती है.

हालांकि प्रतिमा की स्थापना से पहले राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) से मंज़ूरी ली जाएगी. इसके बाद ही निर्माण कार्य शुरू होगा. राज्य की ओर से एनजीटी को यह प्रस्ताव भेजे जाने की तैयारी की जा रही है. नव्य अयोध्या योजना 195.89 करोड़ रुपए की बताई जाती है. इससे संबंधित विस्तृत प्रस्ताव राज्य सरकार ने केंद्र को भेजा है. ख़बरों की मानें तो केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने राज्य सरकार को 133.70 करोड़ रुपए दे भी दिए हैं.

राजभवन की ओर से मीडिया को ज़ारी बयान में बताया गया कि राज्यपाल के सामने प्रदेश के पर्यटन विभाग के मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने प्रजेंटेशन दिया है. इसमें इस दिवाली पर मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की अयोध्या यात्रा के कार्यक्रम का भी ज़िक्र किया गया था. मुख्यमंत्री 18 अक्टूबर को अयोध्या जा रहे हैं. उनके साथ राज्यपाल नाइक, केंद्रीय पर्यटन मंत्री केजे अल्फॉन्स और केंद्र के संस्कृति मंत्री महेश शर्मा भी रहेंगे.