अपने बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले समाजवादी पार्टी के नेता आज़म ख़ान अपने एक और दावे को लेकर सुर्ख़ियों में हैं. एनडीटीवी की ख़बर के मुताबिक़ उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री आज़म ख़ान ने दावा किया है कि भारतीय सेना ने उनके निजी विश्वविद्यालय को एक टैंक बतौर उपहार दिया है. आज़म ख़ान रामपुर स्थित मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय के संस्थापक और कुलाधिपति हैं.

आज़म ख़ान विश्वविद्यालय को टैंक गिफ़्ट किए जाने के दावे पर ही नहीं रुके. उनके मुताबिक उन्होंने सेना से अनुरोध किया है कि वह उनके विश्वविद्यालय को और आधुनिक हथियार उपलब्ध कराए ताकि सेना के हथियारों के बारे में छात्रों की जानकारी बढ़ सके. उनका कहना था, ‘इंडियन आर्मी ने 12-14 टैंक पूरे देश को दिए हैं. उसमें सबसे पहला नाम पहला तोहफा मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय के लिए है. अब हम यह भी चाहते हैं क्योंकि हम उनके परिवार का एक सदस्य हो गए हैं तो और भी जो कुछ है, जहाज है, लड़ाकू जहाज है, हेलीकॉप्टर है, तोपें हैं, ये भी हमें दिए जाएं. यह विश्वविद्यालय फौजी सामान की भी नुमाइशगाह बने, लोग देखें कि हमारी फौज के पास किस तरह के हथियार हैं.’ उनके दावे और अपील को लेकर सेना की तरफ़ से अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

इस साल की शुरुआत में आज़म ख़ान पर सेना के बारे में अपमानजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया गया था. उन पर राजद्रोह का मामला भी दर्ज किया गया था. अपने आलोचकों को निशाने पर लेते हुए आज़म ख़ान ने कहा कि उनके सेना से अच्छे संबंध नहीं हैं, यह कहना दुष्प्रचार है. उनका कहना था कि उनकी ‘इमेज’ अच्छी है इसलिये भारतीय सेना ने उनके विश्वविद्यालय को अपना टैंक दिया है.