उत्तर कोरिया और अमेरिका एक बार फिर एक-दूसरे को धमकियां देते नज़र आ रहे हैं. बुधवार को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से उत्तर कोरिया पर सख़्त कार्रवाई करने के संकेत दिए जाने के बाद अब उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री री योंग हो ने अमेरिका को चेतावनी दी है. टाइम्स ऑफ़ इंडिया के मुताबिक़ एक रूसी न्यूज़ एजेंसी से बात करते हुए उन्होंने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया से लड़ाई के बम की बत्ती सुलगा दी है. उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया को धमकी देने की क़ीमत अमेरिका को आग के गोलों से चुकानी होगी. योंग हो का यह भी कहना था कि उनके देश की परमाणु परियोजना कोरियाई प्रायद्वीप में शांति व सुरक्षा को लेकर आश्वस्त करती है और यह बहस का मुद्दा नहीं है.

न्यूज़ एजेंसी को दिए अपने बयान में योंग हो ने कहा, ‘आप कह सकते हैं कि संयुक्त राष्ट्र में अपने युद्धप्रिय और उन्मादी भाषण से ट्रंप ने हमारे ख़िलाफ़ लड़ाई के बम की बत्ती सुला दी है. हमें शब्दों से नहीं, आग के गोले बरसाकर (यानी मिसाइल हमला) हिसाब बराबर करना है.’ उत्तर कोरियाई विदेश मंत्री ने पहले ट्रंप को ‘दुष्ट राष्ट्रपति’ बताया था. उनके ताज़ा बयान पर योंग ने कहा, ‘हम अमेरिका से शक्ति संतुलन बनाए रखने के अपने उद्देश्य को प्राप्त करने के काफ़ी नज़दीक आ गए हैं. यह हमारा प्रमुख सिद्धांत है कि हम ऐसी कोई बातचीत नहीं करेंगे जिसमें हमारे परमाणु हथियारों को मुद्दा बनाया जाएगा.’

इससे पहले बुधवार को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि उत्तर कोरिया का कुछ न कुछ तो करना पड़ेगा. ख़बरों के मुताबिक ट्रंप ने कहा, ‘मुझे लगता है कि मेरा नज़रिया दूसरों से अलग है. मुझे यह भी लगता है कि मैं इस विषय पर (उत्तर कोरिया के बारे में) अन्य लोगों की तुलना में ज्यादा ठोस और सख़्त राय रखता हूं. लेकिन मैं सुनता भी सबकी हूं. हालांकि अंतिम तौर पर अमेरिका और दुनिया के लिए जो बेहतर होगा मैं वही करूंगा. क्योंकि यह समस्या (उत्तर कोरिया का परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम) वास्तव में वैश्विक है. इसका समाधान होना ही चाहिए.’